Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत-ऑस्ट्रेलिया वर्चुअल समिट में पीएम नरेंद्र मोदी बोले दोस्ती में मजबूती का सही समय, विश्व के लिए होगा अच्छा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमारी सरकार ने इस संकट को एक अवसर की तरह देखने का निर्णय लिया है। भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में व्यापक रिफ़ार्म की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। बहुत जल्द ही ग्राउंड लेवल पर इसके परिणाम देखने को मिलेंगे।

Coronavirus: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की देशवासियों से बात, कहा दुनियाभर में भारत की हो रही है तारीफपीएम मोदी (फ़ोटो- फ़ाइल)

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के बीच गुरुवार को पहला वचुर्अल सम्मेलन हुआ। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के संबंधों को और सशक्त करने के लिए यहउत्तम समय है, उत्तम मौका है। अपनी दोस्ती को और मज़बूत बनाने के लिए हमारे पास असीम संभावनाएँ हैं।

भारत ऑस्ट्रेलिया के साथ अपने सम्बन्धों को व्यापक तौर पर और तेज़ गति से बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह न सिर्फ़ हमारे दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि 'इंडो पेसिफिक' क्षेत्र और विश्व के लिए भी आवश्यक है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमारी सरकार ने इस संकट को एक अवसर की तरह देखने का निर्णय लिया है। भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में व्यापक रिफ़ार्म की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। बहुत जल्द ही ग्राउंड लेवल पर इसके परिणाम देखने को मिलेंगे।

वैश्विक महामारी के इस काल में हमारी व्यापक रणनीतिक साझेदारी की भूमिका और महत्वपूर्ण रहेगी। विश्व को इस महामारी के आर्थिक और सामाजिक दुष्प्रभावों से जल्दी निकलने के लिए एक समन्वित और सहयोगात्मक दृष्टिकोण की आवश्यकता है। इस कठिन समय में आपने ऑस्ट्रेलिया में भारतीय समुदाय का, और ख़ास तौर पर भारतीय छात्रों का, जिस तरह ध्यान रखा है, उसके लिए मैं विशेष रूप से आभारी हूं।

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि इतने कठिन समय में आपने (पीएम मोदी) भारत के भीतर ही नहीं बल्कि पूरे G20, इंडो-पैसिफिक और स्थिरीकरण, रचनात्मक और सकारात्मक भूमिका निभाने के लिए मैं आपको (पीएम मोदी) धन्यवाद देता हूं। हम समावेशी और समृद्ध इंडो-पैसिफिक में भारत की भूमिका के लिए प्रतिबद्ध हैं, हमारा क्षेत्र आने वाले वर्षों में महत्वपूर्ण होगा।

मैं WHO के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का पद लेने के लिए भारत के नेतृत्व की सराहना करता हूं।ये बोर्ड की अध्यक्षता करने का महत्वपूर्ण समय है,मुझे संदेह नहीं कि भारत का नेतृत्व विशेष रूप से स्वास्थ्य क्षेत्र में विश्व स्तर पर कठिन समस्याओं से निपटने में महत्वपूर्ण होगा।

Next Story
Top