Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

IMA का ऐलान, अगर डॉक्टरों पर हमले नहीं रुके तो हम 23 अप्रैल को काला दिवस के रूप में मनाएंगे

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने मांग की है कि हमें सुरक्षित कार्यस्थल उपलब्ध कराए जाएं। अपशब्द और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए।

IMA का ऐलान, अगर डॉक्टरों पर हमले नहीं रुके तो हम 23 अप्रैल को काला दिवस के रूप में मनाएंगे
X

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) ने सोमवार को जानकारी दी है कि यदि डॉक्टरों और अस्पतालों के खिलाफ हिंसा बंद नहीं हुई तो आईएमए 23 अप्रैल को काला दिवस का घोषणा करेगा।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि अगर सरकार व्हाइट अलर्ट के बाद भी डॉक्टरों और अस्पतालों के खिलाफ हिंसा पर केंद्रीय कानून लागू करने में विफल रहती है, तो आईएमए 23 अप्रैल को काला दिवस का ऐलान करेगा। देश के सभी डॉक्टर काली पट्टी बांधकर काम करेंगे।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ये मांग

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने मांग की है कि हमें सुरक्षित कार्यस्थल उपलब्ध कराए जाएं। अपशब्द और हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए। सभी डॉक्टर और अस्पताल इसके विरोध में 22 अप्रैल की रात 9 बजे एक मोमबत्ती जलाएंगे जो 'व्हाइट अलर्ट टू द नेशन' होगा।

डॉक्टर्स पर किए जा रहे हमले

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमितों का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम पर हमले किए जा रहे हैं और उन्हें अपशब्द भी बोला जा रहा है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में डॉक्टरों की टीम पर पथराव किया गया था।

इस मामले के संबंध में सीएम योगी ने तत्काल अधिकारियों को आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। इस मामले के संबंध में पुलिस ने दो दर्जन से अधिक लोगों की गिरफ्तार किया था।

Next Story