Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

AN-32 Aircraft Missing : 50 घंटे बाद भी नहीं मिला एएन-32 का सुराग, सदमे में लापता होने वालों का परिवार

भारतीय वायुसेना की विमान एएन-32 का सुराग 50 घंटे बाद भी नहीं मिल सका है। वायुसेना के विमान में क्रू मेंबर के साथ 13 लोग सवार थे। विमान का संपर्क सोमवार की दोपहर करीब 1 बजे के बाद से टूट गया था तब से अभी तक विमान की कोई जानकारी नहीं आई है। जांच दल के अधिकारियों ने बताया कि खराब मौसम के कारण विमान खोजने में काफी दिक्कतें आ रही हैं। विमान के लापता होने की खबर से क्रू मेंबर्स के परिजनों का बुरा हाल हो गया है।

AN-32 Aircraft Missing : 50 घंटे बाद भी नहीं मिला एएन-32 का सुराग, सदमे में लापता होने वालों का परिवार

भारतीय वायुसेना की विमान एएन-32 का सुराग 50 घंटे बाद भी नहीं मिल सका है। वायुसेना के विमान में क्रू मेंबर के साथ 13 लोग सवार थे। विमान का संपर्क सोमवार की दोपहर करीब 1 बजे के बाद से टूट गया था तब से अभी तक विमान की कोई जानकारी नहीं आई है। जांच दल के अधिकारियों ने बताया कि खराब मौसम के कारण विमान खोजने में काफी दिक्कतें आ रही हैं। विमान के लापता होने की खबर से क्रू मेंबर्स के परिजनों का बुरा हाल हो गया है।

विमान में सवार 29 वर्षीय पायलट आशीष तंपर का भी कोई पता नहीं चल पाया है। पायलट आशीष के चाचा उदयबीर ने कहा कि जब से वे लापता हुए हैं परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। पूरा परिवार उनका राह देख रहा है। उनके लापता होने की खबर सबसे पहले उनकी पत्नी संध्या को हुआ, उस वक्त करीब साढ़े पांच बजे थे। संध्या भी वायुसेना में हैं, रडार ऑपरेटर के पद पर कार्यरत हैं। आशीष ने कंप्यूटर साइंस से बीटेक करने के बाद एयरफोर्स ज्वाईन की थी। साल 2015 में वायुसेना में उन्हें पायलट बना दिया।

इसके अलावा विमान में कानपुर के बिल्हौर के वारंट ऑफिसर कपिल कुमार मिश्रा भी सवार हैं जिनकी तैनाती असम के जोरहाट में है। लापता होने की सूचना पाते ही उनकी पत्नी ऊषा व बेटी स्नेहा का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। विमान में फ्लाइंग लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी सवार हैं। विमान लापता होने की खबर सुनकर उनके परिजन बदहवास हो गए।

उनके चाचा प्रेम पाल का कहना है कि जो विमान लापता है उसे हमारा बेटा मोहित चला रहा था। अभी तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है। हम दुआ करते हैं कि वे जल्दी से सही-सलामत घर वापस आएं।

विमान खोजने में इसरो, नौसेना व वायुसेना की टीम जुटी

एएन-32 के लापता होने से पूरा देश दुआ कर रहा है कि जल्द ही विमान का पता चले और सभी सकुशल वापस लौटें। लापता विमान की तलाश में इसरो, नौसेना व वायुसेना की टीम लगातार सर्च अभियान कर रही है। इसमें वायुसेना की हेलिकॉप्टर सी-130जे और सुखोई शामिल है। वहीं नौसेना ने पी-8आई विमान को सर्च ऑपरेशन में लगा दी है। इसरो से भी सर्च अभियान में मदद ली जा रही है।

चीन बॉर्डर पर आखिरी लोकेशन

एएन-32 आखिरी बार चीन की सीमा से लगे इलाके पर ट्रैक किया गया था। अरुणांचल प्रदेश के सियांग जिले में लापता विमान की आखिरी लोकेशन मिली थी। तब से अभी तक करीब 50 घंटे हो गए हैं लेकिन विमान का कोई अता-पता नहीं है।

Share it
Top