Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Hindi Diwas 2020: भारत के अलावा इन देशों में भी बोली जाती है हिंदी भाषा

भारत मे पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिंदी दिवस मनाया गया था। दरअसल, इसका मुख्य उद्देश्य राष्ट्रभाषा हिंदी को न केवल देश के हर क्षेत्र में, बल्कि वैश्विक स्तर पर भी प्रसारित करना है। भारत के साथ विभिन्न देशों में हिंदी भाषा बोली जाती है।

Hindi Diwas 2020: भारत के अलावा इन देशों में भी बोली जाती है हिंदी भाषा
X
हिंदी दिवस

Hindi Diwas 2020: हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस (Hindi Diwas) मनाया जाता है। हर साल की तरह इस साल सोमवार यानी 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाएगा। भारत को अंग्रेजों से 15 अगस्त 1947 को आजादी मिलने के दो साल बाद 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा में एक मत से हिंदी को राजभाषा घोषित किया गया था। वर्तमान समय में हिंदी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बोली और पढ़ाई भी जाती है। भारत मे पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिंदी दिवस मनाया गया था। दरअसल, इसका मुख्य उद्देश्य राष्ट्रभाषा हिंदी को न केवल देश के हर क्षेत्र में, बल्कि वैश्विक स्तर पर भी प्रसारित करना है। भारत के साथ विभिन्न देशों में हिंदी भाषा बोली जाती है।

भारत के अलावा इन देशों में भी बोली जाती है हिंदी भाषा

जानकारी के लिए आपको बता दें कि भारत के अलावा नेपाल, अमेरिका, मॉरिशस, फिजी, द.अफ्रीका, सूरीनाम, युगांडा सहित दुनिया के कई देश ऐसे हैं जहां पर हिंदी भाषा बोली जाती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल में 80 लोग हिंदी भाषा बोलते हैं। वहीं अमेरिका में हिंदी बोलने वालों की संख्या लगभग 6.5 लाख है।

हिंदी भाषा के सामने हैं ये चुनौतियां

आज के समय में हिंदी भाषा के सामने अनेक चुनौतियां हैं। क्योंकि, सामान्य बोलचाल में अंग्रेजी भाषा के शब्दों का उपयोग किया जा रहा है जोकि धीरे-धीरे हिंदी के अस्तित्व को खतरा पहुंच रहा है। हिंदी दिवस के मौके पर सभी से अनुरोध किया जाता है कि सामान्य बोलचाल की भाषा में हिंदी भाषा का ही प्रयोग जरूर करें। इस मौके पर लोगों को अपने विचार हिंदी में लिखने को कहा जाता है। चूंकि हिन्दी भाषा में लिखने हेतु बहुत कम उपकरण के बारे में ही लोगों को पता है, इस कारण इस दिन हिंदी भाषा में लिखने, जांच करने और शब्दकोश के बारे में जानकारी दी जाती है। आज कल लोग देश में अंग्रेजी भाषा को ज्यादा महत्व देने लगे हैं जोकि हिंदी के लिए खतरा है।

Next Story