Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव बोले फैशन के लिए नहीं कराएं कोरोना टेस्ट

Coronavirus : भारत के प्रधानमंत्री ने भी लोगों से अपील की थी कि बेवजह हॉस्पिटल जाने से बचें, और अगर थोड़ी तबियत खराब हो तो अस्पताल जाने के बजाए किसी फॅमिली डॉक्टर से या जानकर डॉक्टर से परामर्श ले लें।

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल बोले, कोरोना के खिलाफ देश के नागरिक ही नहीं दे रहे हमारा साथलव अग्रवाल

Coronavirus : कोरोना वायरस को लेकर पूरे भारत में दहशत का माहौल बना हुआ है, जबकि भारत सरकार द्वारा लगातार बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस को लेकर डरने की नहीं बल्कि सतर्क और सावधानी बरतने की जरुरत है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हमें कोरोना वायरस टेस्ट को लेकर समझने की जरुरत है।

लव अग्रवाल ने कहा कि लोगों को सिर्फ संतुष्टि या फैशन के लिए कोरोना वायरस टेस्ट नहीं कराना चाहिए, बल्कि समझने की जरुरत है कि कोरोना वायरस की टेस्टिंग निर्देशों के तहत ही कराएं, जो कोरोना के लक्षणों को लेकर बनाई गई है।

कोरोना वायरस टेस्टिंग (Coronvirus Testing)

भारत के प्रधानमंत्री ने भी लोगों से अपील की थी कि बेवजह हॉस्पिटल जाने से बचें, और अगर थोड़ी तबियत खराब हो तो अस्पताल जाने के बजाए किसी फॅमिली डॉक्टर से या जानकर डॉक्टर से परामर्श ले लें। भारत के प्रधानमंत्री कई बार देशवासियों से अपील कर चुके हैं कि संभव हो तो घर से ही कार्य करें और बाहर भीड़-भाड़ वाली जगहों पर नहीं जाएं और न ही ऐसी स्थिति अपने आस पास बनने दें।

कोरोना वायरस के फैलने के कारण लोग मौसमी बिमारियों से भी डरे हुए हैं, लोग हल्की खांसी या बुखार में भी कोरोना वायरस की टेस्टिंग करा रहे हैं, लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अगर हल्की तबियत खराब है तो खुद को परिवार से थोड़ा दूर रखकर आराम करें, और जब कोरोना से जुड़े लक्षण दिखे तभी ऐसी जांच कराएं या हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें।

Next Story
Top