Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा में डॉ हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस पर जवाब देते हुए दिया बड़ा बयान, विपक्ष से की ये गुजारिश

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि पूरे भारत में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए अभी कुल 51 लैब और 56 सैंपल कलेक्शन सेंटर हैं। सरकार ने ईरान में फंसे भारतीयों को यहां न लाकर ईरान में अपने वैज्ञानिक भेजा है।

लोकसभा में डॉ हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस पर जवाब देते हुए दिया बड़ा बयान, विपक्ष से की ये गुजारिशडॉ हर्षवर्धन

लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने आज कोरोना वायरस को लेकर सरकार की तरफ से उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि एयरपोर्ट पर बाहर से आए यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाती है।

कुछ लोगों को उसी समय अलग कर अस्पताल में भर्ती कर दिया जाता है। जिन पर संदेह होता है उनका सारा डाटा एनसीडीसी के पास दिल्ली भेज दिया जाता है और उनकी हर गतिविधि पर नजर रखी जाती है।

स्क्रीनिंग के मामले पर आपको कोई संदेह नहीं होना चाहिए

उन्होंने आगे कहा कि खाली स्क्रीनिंग में वायरस नेगेटिव है इसका मतलब ये नहीं है कि वो दो दिन के बाद पॉजिटिव नहीं हो सकता। हमने सात एयरपोर्ट से शुरू किया था और अब 30 एयरपोर्ट पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है इसलिए स्क्रीनिंग के मामले पर आपको कोई संदेह नहीं होना चाहिए।

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि पूरे भारत में कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए अभी कुल 51 लैब और 56 सैंपल कलेक्शन सेंटर हैं। सरकार ने ईरान में फंसे भारतीयों को यहां न लाकर ईरान में अपने वैज्ञानिक भेजा है।

सरकार विपक्षा का चाहती है साथ

ताकि वहां पर भी लैब के निर्माण की व्यवस्था की जा सके। ईरान में भी लैब की व्यवस्था की जा रही है। केंद्रीय मंत्री ने विपक्ष से कहा कि सरकार कोरोना वायरस से निपटने के लिए आपका साथा चाहती है। डॉ हर्षवर्धन ने विपक्ष के सांसदों को आश्वासन दिया कि भारतीयों को वापस लाना हमारी जिम्मेदारी है। बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 73 हो गई है।

Next Story
Top