Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: 'नव संकल्प' बनेगा 'विकल्प' ?, प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, चर्चा के तहत आज का हमारा विषय है क्या 'नव संकल्प' बनेगा 'विकल्प' ?

Haribhoomi-Inh News: नव संकल्प बनेगा विकल्प ?, प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, चर्चा के तहत आज का हमारा विषय है क्या 'नव संकल्प' बनेगा 'विकल्प' ? कुछ दर्शकों को लगता है कि हम बड़े ही लंबे अंतराल के बाद इस विषय पर बातचीत कर रहे हैं। क्योंकि कांग्रेस का जो नव संकल्प शिविर था। वह तो 13 से लेकर 15 मई के बीच का था और आज तारीख 18 मई है।

तो आखिर 3 दिन बाद क्यों हम कर रहे हैं, सच ये नहीं है। शिविर भले ही 13 से 15 मई तक था। उस दौरान जो भी घटित हो रहा था, उसे लेकर भी हम आप से लगातार बात कर रहे थे। लेकिन आज हम बात विशेष तौर पर इसलिए कर रहे हैं। नव संकल्प शिविर में लिए गए फैसलों के संदर्भ में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने आज दिल्ली में बैठक की तमाम। राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारियों के साथ बैठक में यह तय किया गया कि जो कुछ कुछ भी वहां तय किया गया था। अब उसे क्रियान्वित कैसे किया जाए, कैसे उन फैसलों को जमीन पर उतारा जाए।

वह फैसले जिसके तहत कांग्रेस को उम्मीद है कि वह अपना खोया हुआ गौरव वापस हासिल कर सकेगी। कौन सा गौरव, गौरव जिसके तहत देश में तमाम राज्यों में उसकी सरकार हुआ करती थी, देश में हुकूमत हुआ करती थी। लेकिन आज की स्थिति क्या है। कांग्रेस लगातार दो लोकसभा चुनाव बुरी तरह से हार गई। जो पूरे देश के तमाम राज्य में राज करा कर दी थी, आज महज सिर्फ दो राज्य तक सिमट कर रह गई है। क्या ऐसे हालात के बीच में कांग्रेस को मजबूत करने को लेकर सवाल है, कांग्रेस के भविष्य को लेकर चिंताएं हैं और उन चिंताओं के बीच में 3 दिन, जो बैठक की कोशिश की है। कांग्रेस आने वाले समय में कुछ ऐसा करें, जिससे उसके कार्यकर्ताओं का, उसके नेताओं का और उसके चलते जनता का भरोसा वापस कांग्रेस के संदर्भ में कायम हो सके। क्या यह हो सकेगा। पार्टी ने तय किया है कि यात्रा निकालेंगे भारत जोड़ो या फिर पार्टी को जोड़ रखने की जरूरत है। यह सवाल लोगों के जेहन में आसानी से आता है और इन्हीं सवालों को लेकर आज हमारे साथ इस कार्यक्रम में कई मेहमान हैं, जिनसे हम बातचीत करने वाले हैं....

'नव संकल्प' बनेगा 'विकल्प' ?

'चर्चा'

और पढ़ें
Next Story