Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: 'साजिश' में पंजाब, संभाल पाएंगे 'आप'?, प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, चर्चा के तहत आज हम बेहद संजीदा मामले पर बात करने जा रहे हैं। देश एक बार फिर चिंतित है।

Haribhoomi-Inh News: साजिश में पंजाब, संभाल पाएंगे आप?, प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, चर्चा के तहत आज हम बेहद संजीदा मामले पर बात करने जा रहे हैं। देश एक बार फिर चिंतित है। यूं तो देश में विवाद के लिए तमाम विषय घटनाक्रम के तौर पर मौजूद हैं। लेकिन इन सबके बीच में बीती रात जिस प्रकार की घटना पंजाब में घटित हुई, उसने एक बार फिर देश को आगाह कर दिया है। इसलिए हमारा आज का विषय है 'साजिश' में पंजाब, संभाल पाएंगे 'आप'?

संदर्भ यह है कि पिछले कुछ समय से पंजाब में वापस आतंकी गुटों के सक्रिय होने हलचल महसूस हो रही है। घटनाक्रम कुछ ऐसे घटित हो रहे हैं, पंजाब में आभास हो रहा है कि तकरीबन ढाई दशक पहले जिस आतंकी घटनाओं से ये राज्य उभर गया था। क्या वह वापस दस्तक देने की कोशिश कर रहा है। पंजाब जो इस देश का गौरव है, पंजाब जिसकी बहादुरी के किस्से सुनकर हर हिंदुस्तानी का सीना फुल जाता है। उस पंजाब के संदर्भ में फिर से फिजा में जहर घोलने की खबरें क्यों आ रही हैं।

जानने में दिलचस्पी इस बात की है कि क्या पाकिस्तान जो अपने ही फसाद में उलझा हुआ है। क्या अभी भी पंजाब के माध्यम से, क्या हिंदुस्तान में कोई शरार्त करने की कोशिश में जुटा हुआ है। ताजा तरीन, जो मामला है... जिसमें हम आज यह बात कर रहे हैं.... वह यह है कि मोहाली में पंजाब पुलिस का मुख्यालय है और उस मुख्यालय में इंटेलिजेंस विंग है अर्थात खुफिया विभाग है। उस खुफिया विभाग का दायित्व यह है कि अगर कहीं कुछ भी घटना घटित हो रही है तो उसकी जानकारी उस विभाग को होनी चाहिए। लेकिन कल रात 7:45 बजे उस खुफिया विभाग पर ही आतंकी हमला कथित तौर पर हुआ।

तथाकथित इसलिए कह रहे हैं कि जिसमें स्वयं शुरुआत में पंजाब पुलिस ने इनकार कर दिया था कि यह कोई आतंकी हमला नहीं है। लेकिन जब आज दोपहर डीजीपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की तो उन्होंने आतंकी हमले की संभावना से स्पष्ट तौर पर इंकार नहीं किया। उसमें हैंड चलित ग्रेट का इस्तेमाल हुआ है। जिसे आरपीजी कहा जाता है और उस के माध्यम से सीधे तौर से चुनौती है। उसे पता करना होता है कि कहां-कहां क्या कुछ घटित होने वाला है और तुम्हें यह भी नहीं पता है कि देखो कोई तुम्हारे ऊपर ही हमला कर रहा है। तो इस चुनौती को किस रूप में देख रहे हैं... आज हम इसी कार्यक्रम में चर्चा करेंगे, कई मेहमान हमारे साथ जुड़े हुए हैं...

'साजिश' में पंजाब, संभाल पाएंगे 'आप'?,

'चर्चा'

और पढ़ें
Next Story