Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: 'तिरंगा' शान फिर क्यूं घमासान?, 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, आजादी का त्योहार निकट है और स्वाधीनता दिवस यानी 15 अगस्त आने वाला है और देशभर में तैयारियां चल रही हैं। तैयारियों के तहत हर कोई इस त्योहार को उत्साह पूर्वक मनाने के लिए प्रयत्नशील है।

Haribhoomi-Inh News: तिरंगा शान फिर क्यूं घमासान?, चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, आजादी का त्योहार निकट है और स्वाधीनता दिवस यानी 15 अगस्त आने वाला है और देशभर में तैयारियां चल रही हैं। तैयारियों के तहत हर कोई इस त्योहार को उत्साह पूर्वक मनाने के लिए प्रयत्नशील है।

देश के सम्मानीय प्रधानमंत्री ने इस मौके को खास बनाने के लिए आव्हान किया। हर घर तिरंगा अभियान का आशय यह था कि 140 करोड़ की आबादी वाले 20 करोड़ घर यानी कोई घर बचना नहीं चाहिए। जो 15 अगस्त को अपने यहां तिरंगा ना फहरा पाए। इस अभियान को अब एक युद्ध स्तर पर लाने के लिए चल रहा है। लेकिन इस देश का दुर्भाग्य है कि कोई भी कोशिश आप कर लीजिए। वह बिना विवाद के संपन्न होती नहीं और इस तिरंगे पर भी विवाद हो गया। यही हमारा विषय है 'तिरंगा' शान फिर क्यूं घमासान?

तिरंगा इस देश की अस्मिता का प्रतीक है और इस देश की स्वाधीनता का प्रतीक है। इस देश के द्वारा जिस संघर्ष के बाद हासिल किया गया उसका भी प्रतीक है। देश की आन, बान, शान तिरंगा है। कितने ही गीत और कविताएं लिखी गई। कितने ही निबंध लिखे गए। एक तरफ भारतीय जनता पार्टी है। जो यह बताने की कोशिश कर रही है कि हम तिरंगे को लेकर अतुलनीय अविस्मरणीय हैं और कांग्रेस पार्टी के संदर्भ में यह आरोप लगाया जा रहा है कि ये पार्टी अभी देशद्रोहियों के साथ खड़े होने वाली पार्टी है। इसलिए एक अच्छे खासे अभियान के संदर्भ में सवाल उठा रही है।

केंद्र सरकार के द्वारा एक तिरंगा यात्रा दिल्ली में निकाली गई और तमाम सांसदों को आमंत्रित किया गया लेकिन भारतीय जनता पार्टी को किसी भी अन्य दल के सांसद ने उस यात्रा में शामिल होने की कोशिश नहीं की। प्रयास नहीं किया। शामिल नहीं हुए। इस कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस पार्टी ने निशाना साधा और राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि आखिर इस तिरंगा यात्रा को कौन चला रहा है। वह पार्टी जो देशद्रोही है। जिन्होंने मुख्यालय में तिरंगा नहीं फहराया वह हर घर तिरंगा की लहराने की बात कर रहे हैं। तो कुल मिलाकर यह लगा कि इस विषय पर बात होनी चाहिए। इसी कार्यक्रम पर हम आज अपने खास मेहमानों के साथ बातचीत कर रहे हैं....

'तिरंगा' शान फिर क्यूं घमासान?

'चर्चा'

और पढ़ें
Next Story