Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: IND Vs PAK, खेल को खेल ही रहने दो... 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, ‘खेल को खेल ही रहने दो’

Haribhoomi-Inh News: IND Vs PAK, खेल को खेल ही रहने दो... चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा में, 'खेल को खेल ही रहने दो' जिसका संदर्भ बीते रविवार को भारत पाकिस्तान के बीच हुए टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की जीत पर खुशी ज़ाहिर करने के तरीके और बयानों पर उठते सवाल हैं। पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख़ रशीद ने टी-20 वर्ल्ड कप में भारत के ख़िलाफ़ जीत को इस्लाम की जीत कहा। रशीद ने यहां तक कह दिया था कि 'दुनिया के मुसलमान समेत हिंदुस्तान के मुसलमानों के जज़्बात पाकिस्तान के साथ हैं। इस्लाम को फतह मुबारक हो... पाकिस्तान ज़िंदाबाद…'

दूसरी ओर वकार युनूस ने जो बयान दिया था वो मोहम्मद रिजवान को लेकर दिया। "रिजवान की जो सबसे अच्छी बात लगी वो ये थी कि उसने ग्राउंड में खड़े रहकर नमाज पढ़ी, वो भी हिंदुओं के बीच में वो मेरे लिए काफी विशेष था। पाकिस्तान से मैच हारने के बाद विराट कोहली और रोहित शर्मा समेत भारत के बहुत सारे खिलाड़ियों की ट्रोलिंग हुई। जिसमें सबसे ज्यादा मोहम्मद शमी का नाम सामने आया। ऐसे में सवाल यही उठता है कि है कि आखिर क्यों खेल को सिर्फ खेल की तरह नहीं देखा जाता, इसे धर्म से क्यों जोड़ा जाता है।

T20 World Cup : IND Vs PAK, खेल को खेल ही रहने दो...

'चर्चा'

यूपी और राजस्थान में पाक की जीत का जश्न, कई लोग गिरफ्तार

टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की जीत का जश्न भारत के कई राज्यों में देखने को मिले। इस बीच यूपी की योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आरोपियों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने का आदेश दिया। यूपी में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए योगी सरकार ने कई समर्थकों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। अब उन पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जा रहा है। पाकिस्तान का साथ देने और आतिशबाजी करने के आरोप में 11 लोगों को अलग अलग जिलों से गिरफ्तार किया गया। आगरा और राजस्थान में जश्न के मामले सामने आए।

और पढ़ें
Next Story