Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हाफिज सईद अभी नहीं आएगा भारत, जानें किस मामले में CTD ने दबोचा

दुनिया के आतंकियों की लिस्ट में शामिल और भारत में मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को पाकिस्तान की पुलिस ने गिरफ्तार कर लाहौर की कोट लखपत जेल भेज दिया है। हाफिज सईद को 2008 में हुए मुंबई हमलों का मास्टमाइंड बताया जाता है। उसके खिलाफ भारत ने पाकिस्तान को कई बार डोजियर सौंपे हैं लेकिन ये गिरफ्तारी इस मामले में नहीं बल्कि टेरर फंडिंग मामले में हुई है।

हाफिज सईद अभी नहीं आएगा भारत, जानें किस मामले में CTD ने दबोचाHafiz Saeed, Arrest CTD Terror Funding Case Not Mumbai Attack

दुनिया के आतंकियों की लिस्ट में शामिल और भारत में मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को पाकिस्तान की पुलिस ने गिरफ्तार कर लाहौर की कोट लखपत जेल भेज दिया है। हाफिज सईद को 2008 में हुए मुंबई हमलों का मास्टमाइंड बताया जाता है। उसके खिलाफ भारत ने पाकिस्तान को कई बार डोजियर सौंपे हैं लेकिन ये गिरफ्तार टेरर फंडिंग मामले में हुई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हाफिज सईद को पाकिस्तान की काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) ने गिरफ्तार किया है। सबूत मिले हैं कि हाफिज डोनेशन देने के नाम पर आतंकी संगठनों को पैसा दिया करता था। उसके खिलाफ कई मामले मिले हैं।

बता दें कि सीटीडी ने पाकिस्तान एंटी टेररिज्म एक्ट 1997 के तरह हाफिज के खिलाफ दो मामले दर्ज किए हैं एक है टेरर फंडिंग और दूसरा है मनी लॉन्ड्रिंग केस। हाफिज सईद अकेला नहीं है सीटीडी ने पंजाब के पांच शहरों में यह कार्रवाई की है और जमात उद दावा के नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पाकिस्तान के सीटीडी विभाग ने 7 महीने की कार्रवाई के बाद हाफिज सईद को गिफ्तार किया है। यूएन ने जमात उद दावा, लश्कर और फलाह ए इंसानियत को बैन किया हुआ है। ऐसे में यूएन की दवाब में पाकिस्तान ने इन संगठनों के खिलाफ सबूत जुटाए और अंत में हाफिज सईद को गिरफ्तार किया।

लेकिन दूसरी तरफ पाकिस्तान की इस कार्रवाई को नाटक बताया जा रहा है क्योंकि कुछ दिनों बाद पीएम इमरान खान और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मुलाकात होनी है। ऐसे में अंतर्राष्ट्रीय दबाव के चलते इमरान सरकार ने यह कार्रवाई की है।

Share it
Top