Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Guru Gobind Singh Jayanti 2022: प्रकाश पर्व पर पीएम मोदी का ऐलान, हर साल 26 दिसंबर को मनाया जाएगा 'वीर बाल दिवस'

Guru Gobind Singh Jayanti 2022: सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह (10th Guru of the Sikhs) का प्रकाश पर्व (Prakash Parv) आज मनाया जा रहा है।

Guru Gobind Singh Jayanti 2022: प्रकाश पर्व पर पीएम मोदी का ऐलान, हर साल 26 दिसंबर को मनाया जाएगा वीर बाल दिवस
X

Guru Gobind Singh Jayanti 2022: सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह (10th Guru of the Sikhs) का प्रकाश पर्व (Prakash Parv) आज मनाया जा रहा है। इस मौके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ी घोषणा की। अब हर साल 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाया जाएगा।

इस प्रकाश पर्व के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर मुझे यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि इस वर्ष से 26 दिसंबर को 'वीर बाल दिवस' के रूप में मनाया जाएगा। यह साहिबजादों के साहस और न्याय की खोज के लिए एक उचित श्रद्धांजलि होगी। आज श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर मुझे यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि इस वर्ष से 26 दिसंबर 'वीर बाल दिवस' के रूप में मनाया जाएगा।


पीएम मोदी ने सुबह प्रकाश पर्व के मौके पर देश को बधाई दी। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि श्री गुरु गोबिंद सिंह जी के प्रकाश पर्व की बधाई। उनका जीवन और संदेश लाखों लोगों को सशक्त बनाता है। मैं इस तथ्य को हमेशा संजो कर रखूंगा कि हमारी सरकार को उनका 350वां प्रकाश उत्सव मनाने का अवसर मिला है। उस समय की मेरी पटना यात्रा की कुछ झलकियाँ साझा कर रहा हूँ।

गुरु गोबिंद सिंह ने हिंदू धर्म की रक्षा के लिए देश पर अपने चार बच्चों की बलि दे दी। उनके बलिदान के समय गुरु गोबिंद सिंह के साहिबजादे अजीत सिंह की उम्र 18 साल और जुझार सिंह की उम्र 15 साल थी। 26 दिसंबर को चमकौर में मुगलों से लड़ते हुए दोनों साहिबजादे धर्म की रक्षा के लिए शहीद हो गए थे। दो छोटे साहिबजाद, नौ वर्षीय जोरावर सिंह और छह वर्षीय फतेह सिंह, 28 दिसंबर को मुगल सम्राट औरंगजेब के आदेश पर धर्मांतरण नहीं करने के लिए दीवार पर चुने गए थे।

और पढ़ें
Next Story