Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Live: राजस्थान में गुर्जर आंदोलन फिर शुरू, भरतपुर समेत 5 जिलों में इंटरनेट सेवाएं ठप, दिल्ली-मुंबई रेल ट्रैक जाम

भरतपुर शहर के बयाना में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला गुट के लोग पीलूपुरा के पास रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठे हैं।

Live: राजस्थान में गुर्जर आंदोलन फिर शुरू, भरतपुर समेत 5 जिलों में इंटरनेट सेवाएं ठप, दिल्ली-मुंबई रेल ट्रैक जाम
X

गुर्जर आंदोलन, फोटो ट्विटर

राजस्थान में गुर्जरों ने फिर से मोस्ट बैकवर्ड क्लास में बैकलॉग की भर्तियों समेत कई अन्य मांगों को लेकर आंदोलन फिर शुरू हो गया है। भरतपुर शहर के बयाना में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला गुट के लोग पीलूपुरा के पास रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठे हैं। गुर्जर आंदोलनकारियों ने दिल्ली और मुंबई रेलवे ट्रैक की फिश प्लेटें उखाड़ दिया है।

लाइव अपडेट..

* मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भरतपुर, करौली, दौसा, सवाईमाधोपुर और जयपुर जिले की कई तहसीलों में इंटरनेट सेवा बंद है।

आंदोलन के चलते बीते रविवार को रेलवे को 40 मालगाड़ियों सहित 60 ट्रेनों के रूट को डायवर्ट करना पडा़। दिल्ली-मुंबई की ट्रेनों को डायवर्ट करना पड़ा था। रविवार को 2 और आज 4 ट्रेनों को रद्द किया गया है। गुर्जर आंदोलन की वजह से ही दौसा, हिंडौन, करौली, भरतपुर और बयाना डिपो की लगभग 220 बसों को रोक दिया गया था। जिक कारण लोगों की काफी परेशानी हो रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भरतपुर, करौली, दौसा, सवाईमाधोपुर और जयपुर जिले की कई तहसीलों में इंटरनेट सेवा बंद है।

सीएम पर एक बार भरोसा करना चाहिए

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला का कहना है कि राज्य के सीएम अशोक गहलोत का मेरे पास फोना आया था। सीएम ने विस्तार से बात करने के साथ विश्वास दिलाया है कि गुर्जर समाज की मांगों को बहुत जल्दी पूरा करने का प्रयास करेंगे। जल्द इसलिए हमें सीएम पर एक बार विश्वास करना चाहिए।

बैंसला गुट की ये हैं 6 प्रमुख मांगें

* बैंसला गुट का कहना है कि समझौता और मैनिफेस्टो में वादे के अनुसार, बैकलॉग की भर्तियां निकाली जाएं।

* आरक्षण आंदोलन में जान गवाने वाले लोगों के परिजन को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए और मुआवजा भी मिले।

* भर्तियों में पूरा 5 प्रतिशत आरक्षण मिले।

* आरक्षण विधेयक को 9वीं अनुसूची में डाला जाना चाहिए।

* देवनारायण योजना में विकास योजनाओं के लिए बजट दिया जाए।

* मोस्ट बैकवर्ड क्लास (एमबीसी) कोटे से भर्ती 1252 कर्मचारियों को रेगुलर पे-स्केल मिले।


Next Story