Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

GST Collection: केंद्र ने दी गुड न्यूज, जून 2022 में इतने लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का हुआ GST कलेक्शन

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) की ओर से जून 2022 महीन की शुक्रवार को वस्तु एवं सेवा कर (GST) क्लेक्शन डेटा रिपोर्ट को जारी कर दिया गया है।

GST Collection: केंद्र ने दी गुड न्यूज, जून 2022 में इतने लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का हुआ GST कलेक्शन
X

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) की ओर से जून 2022 महीन की शुक्रवार को वस्तु एवं सेवा कर (GST) क्लेक्शन डेटा रिपोर्ट को जारी कर दिया गया है। जून महीने में जीएसटी क्लेक्शन 1,44,616 करोड़ हुआ है और जबकि अप्रैल 2022 महीने में जीएसटी क्लेक्शन 1,67,540 करोड़ हुआ था। जून का यह आकंड़ा अब तक दूसरा सबसे बड़ा रिकोर्ड है। बीते साल 2021 के जून महीने की तुलना में इसबार जीएसटी क्लेक्शन 56 फीसदी की उछाल पर है।

अगर कुल जीएसटी की बात करें तो उसमें 25,306 करोड़ सीजीएसटी और 32,406 करोड़ सीजीएसटी रहा है। आईजीएसटी का क्लेक्शन 75,887 करोड़ रहा जिसमें से इंपोर्टेड गुड्स पर 40,102 करोड़ है। सेस का क्लेक्शन 11,018 करोड़ हो चुका है। यह आंकड़ा वित्त मंत्रालय के द्वारा जारी किया गया है।

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए साल 2022 के जून महीने में हुए जीएसटी क्लेक्न का डेटा जारी किया। आकंड़ों के मुताबिक, जून में जीएसटी राजस्व संग्रह 1,44,616 करोड़ हुआ है और अगर इससे पहले मई महीने की बात करें तो ये राजस्व संग्रह 140885 करोड़ रहा था।

जानकारी के लिए बता दें कि जून 2022 के रिवेन्यू क्लेक्श्न जून 2022 की तुलना में 56 फीसदी बड़ा है। एक साल पहले इसी महीने में जीएसटी क्लेक्शन 92.800 करोड़ रुपये था। यह पांचवी बार है जब जुलाई 2017 में जीएसटी व्यवस्था को लागू करने के बाद महीने में 1.40 लाख करोड़ मिले हैं। वित्त मंत्री के मुताबिक, अप्रैल महीने में 73 मिलिनय ई-वे बिल जेनरेट हुए, जो कि 2 फीसदी की कमी के साथ दर्ज हुए।

जीएसटी क्लेक्शन के बारे में जानकारी देने के अलावा सरकार की ओर से वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार क्रॉड ऑयल, डीजल और एयरक्राफ्ट फ्यूल पर लगने वाले टैक्स की हर 15 दिन में समीक्षा करेगी, जो कि अतंर्राष्ट्रीय बाजार की कीमत पर बदलते रहते हैँ। आपको बता दें कि सरकार के द्वारा पेट्रोल डीजल के दामों पर लगाम लगाने के लिए निर्यात पर उत्पादन शुल्क में बढ़ोतरी की गई।

और पढ़ें
Next Story