Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सर्वदलीय बैठक के बाद बड़ा बयान, सभी मुद्दों पर बात करने के लिए तैयार सरकार

देश के प्रमुख मुद्दो के लेकर सर्वदलीय बैठक हुई है। जिसमें ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम( AIADMK) पार्टी को छोड़कर सभी विपक्षी दलों ने नागरिकता अधिनियम (सीएए) और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ बात की है।

सभी मुद्दों पर बात करने के लिए तैयार है सरकार - सर्वदलीय बैठक के बाद आया प्रधानमंत्री का बयानप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

देश में सीएए-एनआरसी समेत तमाम मुद्दों को लेकर गुरूवार को बैठक हुई। जिसके बाद ससदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सर्वदलीय बैठक को लेकर बयान जारी किया है। प्रहलाद जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक में कहा है कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है।

सर्वदलीय बैठक में ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIADMK) पार्टी को छोड़कर सभी विपक्षी दलों ने नागरिकता अधिनियम (सीएए) और नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ बात की। प्रह्लाद जोशी ने पीएम के हवाले से कहा कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा है कि सरकार विपक्ष के विचारों को सुनने के लिए तैयार है। इतना ही नहीं, सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा भी करेगी।

उन्होंने कहा कि मोदी इसलिए आए थे ताकि आर्थिक मुद्दों पर चर्चा कर सकें और ये विचार कर सकें कि भारत वैश्विक आर्थिक स्थिति (global economic situation) को ध्यान में रखकर कैसे फायदा उठा सकता है।

मीटिंग के बाद ब्रीफिंग में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि विपक्ष ने मांग की है कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला को तुरंत रिहा किया जाए जिससे वह संसद सत्र में भाग ले सकें।

गुलाम नबी आज़ाद ने आगे कहा कि सीएए के विरोध प्रदर्शनों पर सरकार का रुख उनका अहंकार दिखाता है। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने प्रदर्शनकारियों तक पहुंचने का कोई प्रयास नहीं किया है। प्रह्लाद जोशी ने विपक्ष के लगाए आरोपों पर कहा कि विपक्ष को यह ध्यान में रखना चाहिए कि संसोधित नागरिकता कानून को संसद में लोकतांत्रिक ढंग से पास किया गया है।

बता दें कि शिवसेना इस मीटिंग में मौजूद नहीं थी।

Next Story
Top