Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Google Doodle Kamini Roy: ब्रिटिश भारत की पहली ग्रेजुएट महिला कामिनी रॉय की 155वीं जंयती पर गूगल ने बनाया खास डूडल

Google Doodle Kamini Roy/ गूगल (Google) ने बंगाल सुधारक और भारत की पहली ग्रेजुएट महिला कामिनी रॉय (Kamini Roy) की 155वीं जंयती के मौके पर एक खास डूडल (Doodle) बनाया है। वो ब्रिटिश भारत में स्कूल जाने वाली पहली लड़कियों में से एक थी। जिन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय के बेथ्यून कॉलेज से आर्ट में ग्रेजुएशन की थी।

Google Doodle Kamini Roy: ब्रिटिश भारत की पहली ग्रेजुएट महिला कामिनी रॉय की 155वीं जंयती पर गूगल ने बनाया खास डूडल

Google Doodle Kamini Roy/ आज गूगल (Google) ने भारत की बंगाल सुधारक और महिला अधिकारों की वकालत करने वाली कामिनी रॉय (Kamini Roy) के 155वीं जंयती के मौके पर एक खास डूडल (Doodle) बनाया है। वो एक बंगाली कवि, विद्वान और महिला कार्यकर्ता थीं।

भारत के इतिहास में पहली बार ग्रेजुएट होने वाली महिलाओं में सबसे पहले कामिनी रॉय का नाम आता है। उनका जन्म 12 अक्टूबर 1864 को ब्रिटिश भारत में हुआ। जन्म स्थान की बात करें तो वो बंगाल के बेकरगंज जिले में जन्मीं जो अब बांग्लादेश में है।

कहते हैं कि उनको गणित में काफी रुचि थी लेकिन कामिनी रॉय ने कम उम्र में ही कविता लिखना शुरू कर दिया। साल 1886 में उन्होंने बेथ्यून कॉलेज से संस्कृत में डिग्री हासिल की।

कॉलेज के दिनों में वो अबला बोस के संपर्क में आईं और उसके बाद उनका महिलाओं की शिक्षा के प्रति सामाजिक कार्य शुरू हुआ। अबला बोस के साथ उनकी दोस्ती हुई और दोनों ने मिलकर महिला अधिकारों की वकालत की। रॉय महिलाओं के अधिकारों की वकालत करने के लिए बोस से प्रेरित थीं।

कामिनी रॉय के परिवार की बात करें तो रॉय का जन्म एक संभ्रांत बंगाली बैद्य परिवार में हुआ।य़ उनके पिता चंडी चरण सेन एक जज और साथ ही लेखक भी थे। रॉय ने अपने पिता की किताब लाइब्रेरी से पढ़ी लिखी और गणितीय में काफी होशियार थी लेकिन फिर उसकी रुचि संस्कृत में बदल गई।

Next Story
Share it
Top