Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ी, तीसरी तिमाही में GDP विकास दर 4.7 फीसदी रही

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अगले वित्तीय वर्ष में जीडीपी ग्रोथ रेट के 6 प्रतिशत पर रहने का अनुमान लगाया है। वहीं भारत सरकार के आर्थिक सर्वे में अगले वित्तीय वर्ष में इसके 6 से 6.5 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान लगाया गया है।

अर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ी, तीसरी तिमाही में GDP विकास दर 4.7 फीसदी रहीअर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ी, GDP विकास दर 4.7 फीसदी रही

आर्थिक स्थिति में गिरावट के कारण मोदी सरकार को विपक्ष की तरफ से कई आलोचनाएं झेलनी पड़ी। लेकिन नई रिपोर्ट के अनुसार जीडीपी की ग्रोथ रेट में सुधार हुआ है। 2019-20 के तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में जीडीपी विकास दर मामूली बढ़कर 4.7 फीसदी रही है।

भारत सरकार ने जारी किए हैं आंकड़े

भारत सरकार ने कहा है कि 2019-20 की तीसरी तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) (2011-12) की कीमतें 36.65 लाख करोड़ रुपये आंकी गई हैं, जबकि 2018-19 की तीसरी तिमाही में 35.00 लाख करोड़ रुपये थी। जो जीडीपी में 4.7% की वृद्धि दिखाता है।

वहीं कोर इंडस्ट्री में भी ग्रोथ देखा गया है। जो ग्रोथ दिसंबर में 2.1 प्रतिशत था, वो बढ़कर 2.2 प्रतिशत हो गया है। बता दें कि कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी उत्पाद, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट तथा इलेक्ट्रिसिटी कोर इंडस्ट्री के अंतर्गत आते हैं।

जीडीपी ग्रोथ रेट में आई थी गिरावट

पिछले तीन तिमाही में जीडीपी के ग्रोथ रेट में गिरावट आई थी। 2018-19 के वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में ग्रोथ रेट 8 प्रतिशत पर थी। जो लुढ़क कर दूसरी तिमाही में 7 प्रतिशत पर आ गई थी। फिर तीसरी तिमाही में ये दर 6.6 और चौथी तिमाही में 5.8 पर आ गई थी। वहीं 2019-20 के वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ रेट 5 प्रतिशत पर आ गई थी जो लुढ़ककर दूसरी तिमाही में 4.5 प्रतिशत पर चली गई थी।

रिजर्व बैंक ने 6 प्रतिशत का लगाया है अनुमान

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अगले वित्तीय वर्ष में जीडीपी ग्रोथ रेट के 6 प्रतिशत पर रहने का अनुमान लगाया है। वहीं भारत सरकार के आर्थिक सर्वे में अगले वित्तीय वर्ष में इसके 6 से 6.5 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान लगाया गया है।

Next Story
Top