Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देश की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों के लिए पहली बार भेजी गईं 40,000 बुलेटप्रूफ जैकेट

रक्षा मंत्रालय (Ministry Of Defence) ने बीते साल ही एसएमपीपी कंपनी के साथ इन जैकेट को बनाने के लिए 639 करोड़ रूपए का सौदा किया था। इसके तहत सेना को 1.86 लाख उच्च स्तरीय जैकेट मिलनी हैं।

देश की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों के लिए भेजी गई 40,000 बुलेटप्रूफ जैकेटदेश की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों के लिए भेजी गई 40,000 बुलेटप्रूफ जैकेट

देश के इतिहास में पहली बार सुरक्षाबल (Security Force) अब देश में निर्मित बुलेटप्रूफ जैकेट (Bulletproof Jackets) का इस्तेमाल कर सकेंगे। दरअसल सेना (Indian Army) को चालीस हजार बुलेटप्रूफ जैकेट की आपूर्ति की गई है। इन बुलेटप्रूफ जैकेट्स का इस्तेमाल आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन के दौरान किया जा सकेगा। एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने इन बुलेटप्रूफ जैकेट्स को बनाया है।

एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से मेजर अनिल ओबेरॉय ने बताया कि वे सेना को समय से पहले पूरा ऑर्डर मुहैया करा देंगे। सरकार यह ऑर्डर पूरा करने के लिए कंपनी को 2021 तक की तारीख दी है, लेकिन 2020 के अंत तक सारी जैकेट बनकर तैयार हो जाएंगी।

मेजर ओबेरॉय ने बताया कि पहले साल उन्हें सेना के लिए 36,000 जैकेट्स मुहैया करानी थीं, लेकिन कंपनी इस टारगेट से आगे चल रही है। देश में बनी यह बुलेटप्रूफ जैकेट हार्ड स्टील से बनी गोलियां झेल सकती है। यानी एके-47 और कई अन्य हथियार इस पर बेअसर होंगे। फिलहाल इन जैकेट को कानपुर स्थित सेंट्रल ऑर्डिनेंस डिपो पहुंचाया गया है। यहां से जल्द ही इन्हें जम्मू-कश्मीर भेजा जाएगा।

रक्षा मंत्रालय ने बीते साल ही एसएमपीपी कंपनी के साथ इन जैकेट को बनाने के लिए 639 करोड़ रूपए का सौदा किया था। इसके तहत सेना को 1.86 लाख उच्च स्तरीय जैकेट मिलनी हैं।रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि इस प्रोजेक्ट से सरकार की मेक इन इंडिया योजना को भी बढ़ावा मिलेगा। इसे भारतीय सेना और उद्योगों का आत्मविश्वास बढ़ाने वाला कदम माना जा रहा है।

Next Story
Share it
Top