Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Tractor Rally: पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल पहुंचे RED FORT, किले में तबाही के निशान देखकर हुए दुखी

Farmers Tractor Rally: गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्‍ली की सड़कों पर हुई हिंसा की हर ओर निंदा हो रही है। किसानों ने ट्रैक्टर रैली के दौरान सेंकड़ों पुलिसकर्मियों को घायल किया। वहीं दिल्‍ली पुलिस ने अब मामले में हिंसा को लेकर जांच शुरू कर दी है।

लाल किले के अंदर तोड़फोड़ की तस्वीर।
X

लाल किले के अंदर तोड़फोड़ की तस्वीर।

Farmers Tractor Rally: गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्‍ली की सड़कों पर हुई हिंसा की हर ओर निंदा हो रही है। किसानों ने ट्रैक्टर रैली के दौरान 300 से भी अधिक पुलिसकर्मियों घायल हो गए। वहीं दिल्‍ली पुलिस ने अब मामले में हिंसा को लेकर जांच शुरू कर दी है। दिल्‍ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि सेंट्रल दिल्ली में हुई हिंसा में गैंगस्टर व एक्टिविस्ट लक्खा सदाना की भूमिका की जांच की जा रही है। दिल्ली पुलिस अब तक 22 FIR दर्ज कर चुकी है एफआई की संख्या और भी बढ़ सकती है।

लाल किले के अंदर तोड़फोड़ का आया वीडियो

किसान आंदोलन के नाम पर लाल किले में उपद्रवियों द्वारा तोड़फोड़ की वीडियो वायरस हो रही है। किले के अंदर जहां पर सामान बिखरे और कांच के टुकड़े ज़मीन पर पड़े हुए दिखे। वहीं दिल्ली के लाल किले के अंदर की तस्वीरें, जहां पर सीसीटीवी कैमरा टूटा हुआ है, सामान ज़मीन पर बिखरे हुए है और कांच के टुकड़े भी ज़मीन पर पड़े हुए दिखे। प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने कल किले के पोल पर चढ़कर अपना झंडा फहराया था।

सुरक्षाबलों की तैनाती को लेकर डीजी सीआरपीएफ गृह मंत्रालय पहुंचे

किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान कल की हिंसा के मद्देनजर कानून सचिव और गृह सचिव के बीच एक उच्च स्तरीय बैठक चल रही है। दिल्ली में हिंसा की घटना को देखते हुए अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती को लेकर डीजी सीआरपीएफ गृह मंत्रालय पहुंचे है। यहां सुरक्षा व्यवस्था और सुरक्षाबलों की तैनाती के मुद्द पर गृह सचिव से मुलाकात कर होगी। वहीं दिल्ली पुलिस कमिश्नर कल किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं।

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर पुलिस कमिश्नर कर रहे हैं बैठक

दिल्ली पुलिस कमिश्नर कल किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। वहीं आज केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने लाल किले का दौरा किया। उपद्रवियों ने लाल किले के अंदर भी तोड़फोड़ की है। उपद्रवियों ने लाल किले के अंदर खड़ी CRPF के जवानों की गाड़ी को भी नहीं छोड़ा।

हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों की संख्या 300 पार

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसक झड़प में दिल्ली पुलिस के 300 कर्मी से अधिक घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने बताया 26 जनवरी को आंदोलनकारी किसानों द्वारा दिल्ली पुलिस पर हमला करने से 300 से अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने यह दावा किया है।

दीप सिद्धू पर भी है हिंसा फैलाने का आरोप

वहीं दीप सिद्धू पर भी किसानों को भड़काने और हिंसा फैलाने का आरोप लगाया है। इसके बाद दीप सिद्धू ने फेसबुक पर आकर कहा है 'हमने प्रदर्शन के अपने लोकतांत्रिक अधिकार के तहत निशान साहिब का झंडा लाल किले पर फहराया लेकिन भारतीय झंडे को नहीं हटाया गया।

लक्खा सिदाना की भूमिका की भी हो रही है जांच

सूत्रों के मुताबिक, सेंट्रल दिल्ली में लक्खा सिदाना और उसके करीबियों पर दिल्ली पुलिस पर हमले का रोल सामने आया है। ये सभी सेंट्रल दिल्ली में हुई हिंसा में सक्रिय थे। लक्खा सिदाना पर पंजाब में 2 दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इसमें गैंगस्टर एक्ट भी शामिल है। सिदाना किसान आंदोलन में काफी दिनों से एक्टिव है। पुलिस अब उसकी भूमिका को लेकर जांच कर रही है।

बढ़ सकती है एफआईआर की संख्या

दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी को हुए उग्र भीड़ के पुलिस पर हमले में अब तक 22 एफआईआर दर्ज की हैं जिसमें ईस्ट दिल्ली, द्वारका और पश्चिमी दिल्ली में 3-3 एफआईआर, 2 आउटर नार्थ, एक शाहदरा और एक नार्थ जिले में दर्ज हुई हैं जिनकी संख्या बढ़ सकती हैं। आपको बता दें कि बलवा, सरकारी संपत्ति को नुकसान और हथियार लूटने जैसी धाराएं शामिल हैं जो दिल्ली के 6 जिलों में दर्ज की गई हैं जबकि 153 पुलिसकर्मियों के घायल होने की सूचना है।

इन थानों में दर्ज हैं मामले

इस हिंसा को लेकर ईस्टर्न रेंज में पुलिस ने 4 मुकदमे दर्ज किए हैं। इसमें एक मामला पांडव नगर थाने में, दो गाजीपुर थाने में और एक सीमापुरी थाने में दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक उपद्रवियों ने 8 DTC बस, 17 पब्लिक व्हिकल, 4 कंटेनर, 300 से ज्यादा लोहे के बेरीकेड्स तोड़े हैं। वहीं 41 किसान यूनियनों का प्रतिनिधित्‍व कर रहे संयुक्‍त किसान मोर्चा ने ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा में लिप्त हुए प्रदर्शनकारियों से खुद को अलग कर लिया और आरोप लगाया कि परेड में कुछ असामाजित तत्व घुस गए थे। जिन्होंने ये बवाल मचाया। पुलिस असामाजिक तत्वों की भी तलाश कर रही है।

Next Story