Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सिंघु बॉर्डर से पकड़ा गया संदिग्ध बोला- 26 जनवरी पर 4 किसान नेताओं को गोली मारने की थी तैयारी

कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दे रहे किसान 26 मार्च को ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हैं। सरकार की ओर से कानून स्थगित करने का प्रस्ताव किसानों ने ठुकरा दिया हैं। दिल्ली पुलिस की ओर से गणतंत्र दिवस के दिन सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देकर ट्रैक्टर रैली निकालने से किसानों को रोकने की तैयारी कर रहे थे।

सिंघु बॉर्डर से पकड़ा गया संदिग्ध बोला- 26 जनवरी को 4 किसान नेताओं को गोली मारने की थी तैयारी
X

सिंघु बॉर्डर से पकड़े गए आरोपी की फोटो।

कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दे रहे किसान 26 मार्च को ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हैं। सरकार की ओर से कानून स्थगित करने का प्रस्ताव किसानों ने ठुकरा दिया हैं। दिल्ली पुलिस की ओर से गणतंत्र दिवस के दिन सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देकर ट्रैक्टर रैली निकालने से किसानों को रोकने की तैयारी कर रहे थे। अब किसानों ने बाधा डालने की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया है। किसानों ने सिंघु बॉर्डर से एक संदिग्ध को पकड़ा है। किसानों ने सिंघु बॉर्डर से जिस संदिग्ध को पकड़ा है, उसने कथित तौर पर सोनीपत के राई थाने के एक पुलिस अधिकारी का नाम लिया है।

सोनीपत का निवासी है आरोपी योगेश

सिंघु बॉर्डर से पकड़े गए युवक को क्राइम ब्रांच के दफ्तर ले जाया गया, जहां उससे पूछताछ की जा रही है। आरोपी योगेश सोनीपत के न्यू जीवन नगर का निवासी बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक वह 9वीं फेल है। उसका पहले कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं रहा है।

संदिग्ध ने किए कई खुलासे

संदिग्ध का कहना है कि इस अधिकारी ने 26 जनवरी को कुछ गलत होने पर मंच पर बैठने वाले चार किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश रची है। अधिकारी ने उन चार नेताओं की तस्वीर भी साझा कर रखी है। किसानों ने पकड़े गए संदिग्ध को मीडिया के सामने भी पेश किया। संदिग्ध ने खुलासा किया है कि प्रदर्शनकारी किसान हथियार लेकर जा रहे हैं या नहीं, यह पता लगाने के लिए दो टीमें लगाई गई हैं। वह खुद 19 जनवरी से सिंघु बॉर्डर पर है। उसने कहा कि 26 जनवरी के दिन उनकी योजना प्रदर्शनकारी किसानों में ही मिल जाने की थी। अगर प्रदर्शनकारी परेड के साथ निकलते तो हमें उनपर फायर करने के लिए कहा गया था।

क्या कहना है किसान नेता जगजीत सिंह का

किसान नेता जगजीत सिंह दलेवाल ने कहा कि पकड़े गए संदिग्ध ने प्रदर्शनकारियों पर प्रदर्शन स्थल के करीब एक लड़की से छेड़खानी का आरोप लगा बदनाम करने की कोशिश की। जब उसे पकड़ा गया, उसने यह स्वीकार किया कि वह यह देखने के लिए हंगामा कराने की कोशिश कर रहा था कि किसी प्रदर्शनकारी के पास कोई हथियार तो नहीं। बाद में उसने कई खुलासे किए।

क्या कहना है पुलिस का

दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया है कि इस संबंध में उसे कोई जानकारी नहीं है। पुलिस को कोई शिकायत नहीं मिली है। पुलिस की ओर से यह भी कहा गया कि यदि किसानों ने किसी संदिग्ध को पकड़ा तो उसे हमें सौंपें। हम पूछताछ करेंगे। दूसरी तरफ, मौके पर पहुंची हरियाणा पुलिस की एक टीम संदिग्ध को लेकर सिंघु बॉर्डर से निकल रही थी कि किसानों ने उसकी गाड़ी रोक ली। संदिग्ध को पुलिस के वाहन से उतार लिया गया। किसान नेताओं और पुलिस की टीम के बीच एक कमरे में संदिग्ध की मौजूदगी में बातचीत हुई। इसके बाद पुलिस उसे सोनीपत के कुंडली थाने ले गई।

Next Story