Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest : पंजाब से लगे सभी बॉर्डर खोले गए, अब किसी भी किसान को रोका नहीं जाएगा, यहां पढ़ें पूरा अपडेट्स

किसानों का मोदी सरकार के खिलाफ हल्लाबोल जारी है। मोदी सरकार के नए कृषि कानून का विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

दिल्ली पहुंचे किसानों के काफिले, आज रोहतक और महम में विरोध प्रदर्शन करेंगे धरतीपुत्र
X

किसान आंदोलन (फाइल फोटो)

किसानों का मोदी सरकार के खिलाफ हल्लाबोल जारी है। मोदी सरकार के नए कृषि कानून का विरोध प्रदर्शन हो रहा है। किसानों के दिल्ली चलो मार्च का बड़ा असर बॉर्डर पर देखा जा रहा है। किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि आज बड़ा प्रदर्शन होगा। मीडिया रिपोर्ट, किसान आंदोलन को देखते हुए दिल्ली-हरियाणा और यूपी के बॉर्डर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली के सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर सबसे ज्यादा आंदोलन का असर देखा जा रहा है। वहीं पुलिस ने किसानों को चेतावनी दी थी अगर वो दिल्ली में प्रदर्शन के लिए आएंगे तो पुलिस कार्रवाई के लिए तैयार रहें। फिलहाल, दिल्ली से नोएडा और गाजियाबाद की मेट्रों को बंद कर दिया गया है।

किसान आंदोलन लाइव (Farmers Protest LIVE Updates)

अंबाला के एसपी राजेश कालिया ने कहा कि हमें बॉर्डर खोलने के आदेश मिल चुके हैं, हमने अंबाला में शंभू बॉर्डर को खोल दिया है। बैरिकेड हटा दिए हैं। इसके बाद ट्रैफिक खुल जाएगा, अब हमारा काम ट्रैफिक को कंट्रोल करना है। अब किसी भी किसान को रोका नहीं जाएगा।

किसान आंदोलन के चलते गुरुग्राम-दिल्ली बॉर्डर पर ट्रैफिक जाम जारी। गुरुग्राम और दिल्ली पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही है, जिससे ट्रैफिक मूवमेंट धीमी हो गई है।

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर डटे किसानों ने बुराड़ी जाने से मना कर दिया है।

राजधानी दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति मिलने के बाद टिकरी बॉर्डर से दिल्ली में दाखिल होते किसान प्रदर्शनकारी। किसान शांतिपूर्ण तरीके से बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड में प्रदर्शन कर सकते हैं।

दिल्ली के बुराड़ी में बने संत निरंकारी ग्राउंड में किसान प्रदर्शनकारियों को रुकने की इजाजत दी है।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने किसानों के लिए अस्थाई स्टेडियम जेल बनाने के पुलिस के अपील को ठुकरा दिया है।

आंदोलनकारियों को दिल्ली आने की अनुमति दे दी गई है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर और बागपत में भी किसानों का आंदोलन जारी है। इस दौरान किसानों ने हाईवे को किया जाम

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प, दिल्ली की तरफ आगे बढ़ते किसान

दिल्ली में 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की तैयारी में पुलिस, मांगी इजाजत

दिल्ली-बहादुरगढ़ हाईवे के पास टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने वाटर कैनन और आंसू गैस के गोले दागे


दिल्ली मेट्रो ने ग्रीन लाइन पर ब्रिगेडियर होशियार सिंह, बहादुरगढ़ सिटी, पंडित श्रीराम शर्मा, टिकरी बॉर्डर, टिकरी कलां और घेवर मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकास बंद किए।

पंजाब में किसान मजदूर संघर्ष समिति के सदस्य ट्रॉलियों में अनिवार्य रूप से स्टॉक करके दिल्ली की ओर जाने वाली अपनी ट्रैक्टर रैली अमृतसर के लिए तैयार

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज मैं हरियाणा के पानीपत गया और किसानों के संघर्ष को समर्थन दिया।

किसानों के विरोध मार्च के मद्देनजर पुलिस द्वारा वाहनों की जाँच के कारण दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर यातायात जाम।

अन्य राज्यों से दिल्ली की ओर जाने वाले यात्रियों का कहना है कि सड़क अवरुद्ध होने के कारण दिल्ली-पानीपत राजमार्ग पर जाम लगने के बाद उन्हें समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

एक किसान कहता है, "कोई बात नहीं, हम दिल्ली में आगे बढ़ेंगे। हम अपने परिवारों के साथ छह महीने के लिए राशन लेकर जा रहे हैं।"

पानीपत में किसानों ने बड़े-बड़े पत्थरों को हटाना शुरू किया

पानीपत के टोल प्लाजा पर किसानों के लिए सामाजिक संस्थाओं द्वारा लंगर लगाया गया

किसान आंदोलन के चलते टीकरी बॉर्डर को बंद कर दिया गया है।

`दिल्ली चलो` मार्च को लेकर हजारों प्रदर्शनकारी किसान ने हरियाणा-पंजाब सीमाओं पर इकट्ठा हुए। जिसको देखते हुए दिल्ली हरियाणा बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।



किसान आंदोलन पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि संशोधन बिल किसानों को आत्मनिर्भर बनाने वाला है।

दिल्ली के हर बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात

किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए बीएसएफ के जवानों की तैनाती

झज्जर की सीमा पर पहुंचे किसान, सीमाओं पर बढ़ाई गई सुरक्षा

ये है किसानों की मांग

धान की सरकारी खरीद प्रति एकड़ 20 क्विंटल के स्थान पर 13 कुंटल ही खरीदी जाएगी ऐसा बीजेपी सरकार का निर्णय है। किसानों की मांग है कि पुरानी व्यवस्था ही लागू रहे। यह एमएसपी समाप्त करने का पहला कदम है। मोदी जी को इस आदेश को वापस लेना चाहिए।

Next Story