Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmer Protests: यूपी पुलिस गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेताओं को खदेड़ने के लिए तैयार, टिकैत बोले- कानून वापस नहीं तो करूंगा आत्महत्या

Farmer Protests: यूपी पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेताओं को खदेड़ने की पूरी तैयारी कर ली है। इस बीच राकेश टिकैत ने धमकी दी है कि यदि कृषि कानून वापस नहीं लिए गए तो आत्महत्या कर लेंगे।

Farmer Protests: यूपी पुलिस गाजीपुर बॉर्डर से किसान नेताओं को खदेड़ने के लिए तैयार, टिकैत बोले- कानून वापस नहीं तो करूंगा आत्महत्या
X

Farmer Protests: यूपी के गाजियाबाद में स्थित गाजीपुर बॉर्डर को यूपी पुलिस ने छावनी में तब्दील कर दिया है। जिससे संकेत मिल रहे हैं कि किसानों को गाजीपुर सीमा से हटाने की यूपी पुलिस ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। दूसरी ओर दिल्ली पुलिस गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली की सीमा में पूरी तरह से सतर्क नजर आ रही है। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैट ने अपनी हत्या की साजिशें भारतीय जनता पार्टी 'भाजपा' के लोगों पर रचाने के आरोप लगाए हैं। साथ ही उन्होंने धमकी दी है कि जब केंद्र सरकार नए कृषि कानूनों को वापास नहीं लेगी तो वो अत्महत्या कर लेंगे। इससे पहले राकेश टिकैत ने कहा था कि वो धरना स्थल को खाली नहीं करेंगे, कहा था कि कानूनों के वापस नहीं होने तक वो धरना देते रहेंगे।

जानकारी के अनुसार, ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद दिल्ली के आसपास विभिन्न बॉर्डर पर हलचलें तेज नजर आ रही हैं। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गाजीपुर बॉर्डर से धरनास्थल को खाली कराने का आदेश जारी कर दिया है। गाजीपुर सीमा पर भारी संख्या में यूपी पुलिस के जवान तैनात हो गए हैं। बॉर्डर पर यूपी पुलिस प्रशासन की ओर से बज्र वाहन की भी तैनाती की गई है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गुरुवार को गाजीपुर बॉर्डर पर मंच को भी संबोधित किया। राकेश टिकैत ने कहा कि जब तक सरकार से बात नहीं होगी धरना प्रदर्शन समाप्त नहीं होगा। जब तक गांव के लोग ट्रैक्टरों से पानी नहीं लाएंगे, पानी नहीं पीऊंगा। प्रशासन ने पानी हटा दिया, बिजली काट दी, सारी सुविधा हटा दी है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने इस दौरान मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए आत्महत्या की धमकी भी दी है। राकेश टिकैत ने रोते हुए कहा कि यदि तीनों कृषि कानून वापस नहीं होते हैं तो मैं आत्महत्या कर लूंगा। वहीं राकेश टिकैत ने कहा कि मुझे कुछ भी हुआ तो प्रशासन जिम्मेदार होगा। टिकैत ने कहा कि वो किसानों को बर्बाद नहीं होने देंगे। टिकैत ने भाजपा के लोगों पर किसान नेताओं को मारने की साजिशें रचे जाने का आरोप लगाया है। राकेश टिकैत ने यह भी दावा किया कि यहां पर करीब 300 भाजपा के लोग मौजूद हैं। जो किसानों के खिलाफ साजिशें रच रहे हैं।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि वो आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। इस दौरान राकेश टिकैत ने कहा कि तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं होगा। लाल किले पर झंडा फहराने वाले आंदोलनकारी नहीं है। राकेश टिकैत ने लाल किले के हिंसा मामले की कॉल रिकॉर्ड्स सुप्रीम कोर्ट द्वारा जांच कराए जाने की मांग उठाई है। वहीं जानकारी मिल रही है कि गाजीपुर बॉडर पर धारा 144 लागू कर दी गई है। गाजीपुर बॉर्डर पर स्थानीय लोग भी किसान नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।

इस बीच भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि हम धरना तो समाप्त कर देंगे। धरना स्थल (गाजीपुर बॉर्डर) पर पानी, बिजली अन्य सुविधाएं बंद कर दिए गए हैं। अब हम वहां क्या करेंगे? उठ ही जाएंगे।

वहीं गाजीपुर बॉर्डर पर तैनात प्रीत विहार के एसीपी वीरेंद्र पुंज ने कहा कि किसानों को अपने आप गाजीपुर बॉर्डर खाली कर देना चाहिए। हमने तो शांति की अपील पहले भी की थी और आज भी कर रहे हैं।


Next Story