Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Economic Survey 2020: लोकसभा में पेश हुई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, 2020-21 में GDP 6-6.5 फीसदी रहने का अनुमान

Economic Survey 2020: बजट का बजट सत्र शुरू होते ही लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इकोनॉमिक सर्वे पेश कर दिया। वहीं मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति वी सुब्रमण्यन ने इन दस्तावेजों को शेयर किया।

Economic Survey 2020: लोकसभा में पेश हुई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, 2020-21 में GDP 6-6.5 फीसदी रहने का अनुमान

Economic Survey 2020: बजट का बजट सत्र शुरू होते ही लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इकोनॉमिक सर्वे पेश कर दिया। इस सर्वे में 1 अप्रैल से शुरू होने वाले अगले वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि को 6 प्रतिशत से 6.5 प्रतिशत करने का अनुमान लगाया गया है।

वित्त मंत्री ने माना कि वृद्धि नीचे है। 2020-21 में विकास 2019-20 में अनुमानित 5 प्रतिशत विस्तार की तुलना की है। मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति वी सुब्रमण्यन ने दस्तावेज पेश करते हुए कहा इस बार की थीम वेल्थ क्रिएशन है। इसे पुराने और नए के बीच संश्लेषण कहा जा सकता है।

ख्य आर्थिक सलाहकार ने कहा कि कमजोर वैश्विक विकास के कारण भारत के साथ-साथ वित्तीय क्षेत्र के मुद्दों की वजह से निवेश मंदी के चलते चालू वित्त वर्ष में विकास दर घटकर एक दशक के निचले स्तर पर पहुंच गई है।

साल 2019-20 के लिए अनुमानित 5 प्रतिशत की वृद्धि दर सबसे कम है, जो अभी और गिर सकती है। सर्वेक्षण वित्त मंत्रालय का एक प्रमुख वार्षिक दस्तावेज है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था में विकास की समीक्षा करता है।

सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा कि दिसंबर में मुख्य मुद्रास्फीति में वृद्धि से पता चलता है कि मांग दबाव बढ़ रही है। यह आगे चलकर वित्त वर्ष 2015 में वृद्धि के लिए हेडलाइन सीपीआई के मजबूत संशोधन के सबूतों को देखता है। लेकिन संरचना में सुधार, सरकारी खर्चों की गुणवत्ता और महत्वपूर्ण सरकारी कदम, जिसमें इन्फ्रा पाइपलाइन भी शामिल है।

आर्थिक सर्वेक्षण में 5 फीसदी की मौजूदा राजकोषीय वृद्धि देखी गई और आगे कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को विकास को पुनर्जीवित करने के लिए आराम करने की आवश्यकता हो सकती है।

साल 2019 वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए वैश्विक उत्पादन वृद्धि के लिए एक काफी कठिन साल रहा, जो 2009 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद से 2.9 फीसदी की सबसे धीमी गति से बढ़ने का अनुमान है। 2018 में घटकर 3.6 प्रतिशत और 2017 में 3.8 प्रतिशत से गिर गया।

हालांकि, चीन और अमेरिका की संरक्षणवादी प्रवृत्ति और बढ़ते अमेरिका-ईरान तनाव के कारण अनिश्चितताओं को कम किया जा रहा है। वैश्विक विनिर्माण, व्यापार और मांग के बीच कमजोर माहौल के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था जीडीपी विकास दर 2019-20 के एच 1 में 4.8 फीसदी की धीमी गति रही।

Next Story
Top