Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

DRDO ने किया लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण, जानें खासियत

डीआरडीओ के मुताबिक, लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल तीन किलोमीटर तक बैठे टागरेट को अपना निशाना बना सकती है।

DRDO ने किया लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण, जानें खासियत
X
लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल, फ़ोटो एएनआई

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आज लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, डीआरडीओ ने अहमदनगर में केके रेंज (एसीसी एंड एस) में एमबीटी अर्जुन टैंक से लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। यह मिसाइल दुश्मनों की तोपों का काल है। क्योंकि, यह मिसाइल तीन किलोमीटर तक बैठे टारगेट को अपना निशाना बना सकती है। चलिये जानतें हैं इस मिसाइल की खासियत।

लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल की खासियत

* डीआरडीओ के मुताबिक, लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल तीन किलोमीटर तक बैठे टागरेट को अपना निशाना बना सकती है।

* इस मिसाइल को कई सारे प्लेटफॉर्म लॉन्च क्षमता के साथ विकसित किया गया है।

* वर्तमान समय में यह एमबीटी अर्जुन की एक बंदूक से तकनीकी मूल्यांकन के परीक्षणों से गुजर रही है।

* इसके अलावा मिसाइल में हीट (हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट) है। जोकि, वारहेड के माध्यम एक्सप्लोसिव रिऐक्टिव आर्मर प्रोटेक्टेड वेहिकल्स को उड़ाती है।

* यह मिसाइल मॉडर्न टैंक्स से लेकर भविष्य के टैंक्स को भी नेस्तनाबूद करने में सक्षम है।

* इस मिसाइल की यह भी खासियत है कि यह एटीजीएम के जरिए कम ऊंचाई पर उड़ने वाले हेलिकॉप्टर्स को भी ढेर कर सकती है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ को दी बधाई

जानकारी के लिए आपको बता दें, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ को इस सफल परीक्षण के लिए बधाई दी है। रक्षा मंत्री ने अपने ट्विटर एकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, एमबीटी अर्जुन से लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण के लिए डीआरडीओ को बधाई। भारत को डीआरडीओ पर गर्व है, जो निकट भविष्य में आयात निर्भरता को कम करने की दिशा में काम कर रहा है।

Next Story