Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

DRDO Directors Conference: अजीत डोभाल बोले, विरोधियों पर बढ़त के लिए हमें खुद का आकलन करना होगा

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) भवन में डीआरडीओ की 41वीं कॉन्फ्रेंस हो रही है। जिसमें एनएसए अजीत डोभाल, तीनों सेना प्रमुख पहुंचे हैं।

DRDO Directors Conference: अजीत डोभाल बोले, विरोधियों पर बढ़त के लिए हमें खुद का आकलन करना होगाdrdo directors 41st conference live updates

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) भवन में डीआरडीओ की 41वीं कॉन्फ्रेंस हो रही है। जिसमें एनएसए अजीत डोभाल, तीनों सेना प्रमुख पहुंचे हैं। कार्यक्रम में इसमें एनएसए अजित डोभाल, आर्मी चीफ बिपिन रावत, वायुसेनाध्यक्ष एयर टीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया, नौसेनाध्यक्ष एडमिकल करमबीर सिंह और डीआरडीओ अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी मौजूद हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने कहा कि कुछ आला तकनीकें ऐसी हैं, जो भारत को अधिक सुरक्षा प्रदान करती हैं। ये आवश्यकता आधारित होनी चाहिए। तकनीक को बेहतर करने पर ज्यादा जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमे पहले सभी एजेंसियों के साथ मिलकर आकलन करना होगा कि आखिर हमारी जरुरतें क्या हैं।

सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने कहा कि डीआरडीओ ने यह सुनिश्चित करने के लिए प्रयास करे कि सेवाओं की आवश्यकताओं को घरेलू समाधानों के माध्यम से पूरा किया जाए। हमें विश्वास है कि हम स्वदेशी हथियार प्रणालियों और उपकरणों के माध्यम से अगला युद्ध लड़ेंगे और जीतेंगे। आगे कहा कि हम भविष्य के युद्ध के लिए सिस्टम देख रहे हैं। हमें साइबर, स्पेस, लेजर, इलेक्ट्रॉनिक और रोबोटिक टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के डेवलपमेंट की तरफ देखना होगा।

डीआरडीओ के कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं अब्दुल कलाम की 88 वीं जयंती पर उन्हें आभार व्यक्त करता हूं। वह एक स्वीकृत वैज्ञानिक थे। अनुसंधान और मिसाइल विकास में उनके योगदान से भारत को उनकी स्वदेशी क्षमताओं के लिए जाने जाने वाले देशों की सूची में ला दिया।

राजधानी दिल्ली में डीआरडीओ के पूर्व डायरेक्टर और पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलामको उनकी 88वीं जयंती पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, वायुसेना चीफ एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और नेवी चीफ एडमिरल करमबीर सिंह ने श्रद्धांजलि अर्पित की।


Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top