Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नवंबर तक प्रत्यक्ष कर कलेक्शन 5 प्रतिशत बढ़ा : निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में कराधान अधिनियम संशोधन विधेयक 2019 पर बहस का जवाब देते हुए कहा कि प्रत्यक्ष कर कलेक्शन में कोई कमी नहीं आई है।

नवंबर तक प्रत्यक्ष कर कलेक्शन 5 प्रतिशत बढ़ा : निर्मला सीतारमणनिर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में आज कहा, नवंबर तक सकल प्रत्यक्ष कर कलेक्शन 5 प्रतिशत बढ़ा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में कराधान अधिनियम संशोधन विधेयक 2019 पर बहस का जवाब देते हुए कहा कि प्रत्यक्ष कर कलेक्शन में कोई कमी नहीं आई है।

निर्मला सीतारमण इन आशंकाओं को खारिज किया कि कॉरपोरेट कर की दर में कटौती के बाद राजस्व कलेक्शन प्रभावित होगा। उन्होंने कहा कि वास्तव में नवंबर तक सकल प्रत्यक्ष कर कलेक्शन में 5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में प्रत्यक्ष कर कलेक्शन ज्यादा रहता है

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसके अलावा कहा कि यदि बीते वर्षों को देखा जाए तो वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में कलेक्शन ज्यादा रहता। कॉरपोरेट कर की दर में कटौती का मुख्य उद्देश्य विनिर्माण क्षेत्र में नया निवेश आकर्षित करना है। उन्होंने बताया, कॉरपोरेट कर की दर में कटौती का ऐलान के बाद कई घरेलू और वैश्विक कंपनियों ने भारत में निवेश करने की इच्छा जताई।

इसके अलावा वित्त मंत्री ने कहा, हाल में बैंकों ने ऋण वितरण कार्यक्रम के तहत 2.5 लाख करोड़ का कर्ज बांटा। जिसमें 1.5 लाख करोड़ रुपए का नया ऋण शामिल है। उन्होंने इस धारणा को खारिज करते हुए कहा कि वह केंद्र सरकार की आलोचना नहीं सुनाना चाहती हैं।

यह कहना अनुचित होगा कि सरकार आलोचना सुनने को तैयार नहीं है। कुछ दिन पहले उद्योगपति राहुल बजाज ने कहा था कि भारतीय उद्योग जगत केंद्र सरकार की आलोचना करने से डरता है।

Next Story
Share it
Top