Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Delhi Election 2020: आम आदमी पार्टी के इस विधायक को आता है EVM हैक करना, आप भी जानें कौन हैं ये

Delhi Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव के मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल में सभी ने आम आदमी पार्टी को बहुमत दिया है। इसके बाद अरविंद केजरीवाल सरकार ईवीएस से छेड़छाड़ को लेकर चिंतित है। आइये आपको बताते हैं आम आदमी पार्टी के उस विधायक के बारे में जिसे ईवीसएम हैक करना आता है।

Delhi Election 2020: आम आदमी पार्टी के इस विधायक को आता है EVM हैक करना, आप भी जानें कौन हैं येईवीएम और वीवीपैट

Delhi Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव के मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल में सभी ने आम आदमी पार्टी को बहुमत दिया है। केजरीवाल की सरकार बनने की भविष्यवाणी की है। ऐसे में अब ईवीएम के साथ छेड़छाड़ का डर आम आदमी पार्टी को सता रहा है। कभी आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने भाजपा पर ईवीएम हैक करने का आरोप लगाया था। लेकिन आपको मालूम नहीं होगा कि आम आदमी पार्टी के एक विधायक को ईवीएम हैक कराना आता है।

क्या आप जानते हैं कि दिल्ली विधानसभा में कभी आप पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने डेमो देकर बताया था कि कैसे ईवीएम को हैक किया जा सकता है। सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली विधानसभा के एक विशेष सत्र के दौरान इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) को कैसे हैक किया जा सकता है इसका लाइव टेलीकास्ट सदन में दिखाया था।

सौरभ भारद्वाज ने दावा किया था कि दिल्ली विधानसभा में एक डमी ईवीएम को हैक कर किसी भी विशेष पार्टी के पक्ष में वोटिंग की जा सकती है। यानी की मशीन से छेड़छाड़ कर सकते हैं। सौरभ भारद्वाज द्वारा इस्तेमाल की गई ईवीएम चुनाव आयोग द्वारा वास्तविक मतदान में इस्तेमाल नहीं की गई थी। ये एक डमी ईवीएम थी।

ईवीएम हर पार्टी के लिए एक गुप्त कोड का इस्तेमाल करती है। ऐसे में यदि कोई गुप्त कोडिंग को हैक कर लेता है तो वो आसानी से परिणामों को बदल सकता है। उन्होंने कहा था कि कोई भी आम इंजीनियर ईवीएम के साथ छेड़छाड़ कर सकता है। उन्होंने बकायदा एक एक स्टेप कर इसके बारे में बताया था...

1) किसी भी उम्मीदवार को जीतने के लिए मैनिपुलेटर सरल कोड का इस्तेमाल करते हैं। ये ईवीएम के मदरबोर्ड को बदलकर किया जा सकता है।

2) कोड दर्ज करने पर कोई उस मशीन के वोटों के परिणामों को पूरी तरह से बदल सकता है।

3) छेड़छाड़ वाली ईवीएम कुछ वोटों के लिए सही परिणाम दिखा सकती है।

4) ईवीएम को यह दिखाने के लिए भी रीसेट किया जा सकता है कि मतदान के दिन परीक्षण में पास होने वाली मशीन को मतदान प्रक्रिया के दौरान कैसे घुमाया जा सकता है।

5) यह सब 90 सेकंड के अंदर किया जा सकता है। इसका टाइम भी सौरभ भारद्वाज ने बताया था।

Next Story
Top