Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अग्निपथ योजना पर बवाल के बीच सरकार अलर्ट, तीनों सेना प्रमुखों के साथ रक्षा मंत्री ने की बैठक

केंद्र सरकार (Central Government) की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) का देशभर में हो रहे विरोध के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने शनिवार को तीनों सेना प्रमुखों के साथ अहम बैठक की। इस बैठक में एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी(VR Choudhary), नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार(R Hari Kumar) और थल सेनाध्यक्ष जनरल बीएस राजू (BS Raju) ने हिस्सा लिया।

अग्निपथ योजना पर बवाल के बीच सरकार अलर्ट, तीनों सेना प्रमुखों के साथ रक्षा मंत्री ने की बैठक
X

केंद्र सरकार (Central Government) की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) का देशभर में हो रहे विरोध के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने शनिवार को तीनों सेना प्रमुखों के साथ अहम बैठक की। इस बैठक में एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी(VR Choudhary), नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार(R Hari Kumar) और थल सेनाध्यक्ष जनरल बीएस राजू (BS Raju) ने हिस्सा लिया।

माना जा रहा है कि बैठक में अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) को शीघ्र कार्यान्वयन और प्रदर्शनकारियों (protesters) को शांत करने के तरीके खोजने पर ध्यान केंद्रित किया गया था। सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडेय बैठक में शामिल नहीं हो सके क्योंकि वह आधिकारिक दौरे पर हैदराबाद में हैं। थल सेना(Army), नौसेना (Navy) और वायु सेना (Air Force) ने शुक्रवार को अगले सप्ताह तक नए 'प्रारूप' के तहत चयन प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की।

वायु सेना प्रमुख वीआर चौधरी ने कहा कि वायु सेना द्वारा अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के तहत चयन प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी, जबकि थलसेना ने कहा कि वह भर्ती के लिए प्रारंभिक अधिसूचना जारी करके दो दिनों के भीतर औपचारिक रूप से प्रक्रिया शुरू कर देगी। हालांकि, नौसेना ने कहा कि वह भर्ती प्रक्रिया "बहुत जल्द" शुरू करेगी।

नौसेना के एक वरिष्ठ कमांडर ने कहा कि भर्ती के लिए अधिसूचना एक सप्ताह के भीतर जारी कर दी जाएगी। सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि तीनों सशस्त्र बल अगले साल जून तक नई योजना के तहत परिचालन और गैर-लड़ाकू दोनों भूमिकाओं में रंगरूटों के पहले बैच को तैनात करने की योजना बना रहे हैं।

प्रदर्शनकारियों (protesters) को शांत करने के प्रयास में, सरकार ने 2022 के लिए योजना के तहत सैनिकों की भर्ती के लिए ऊपरी आयु सीमा 21 से बढ़ाकर 23 वर्ष कर दी। अग्निपथ योजना के तहत, साढ़े सत्रह वर्ष से 21 वर्ष की आयु के कर्मियों को किया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story