Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अगर कोई भी ताकतवर देश भारत को छेड़ेगा तो हम उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे : राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को उत्तर प्रदेश के तेलीबाग में अखिल भारतीय भूतपूर्व सैनिक सेवा परिषद (All India Council of Ex-Servicemen) के रजत जयंती समारोह में दुश्मन देशों पर करारा हमला बोला है। इस दौरान राजनाथ सिंह ने समारोह को संबोधित किया।

अगर कोई भी ताकतवर देश भारत को छेड़ेगा तो हम उसे मुंहतोड़ जवाब देंगे : राजनाथ सिंह
X

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को उत्तर प्रदेश के तेलीबाग में अखिल भारतीय भूतपूर्व सैनिक सेवा परिषद (All India Council of Ex-Servicemen) के रजत जयंती समारोह में दुश्मन देशों पर करारा हमला बोला है। इस दौरान राजनाथ सिंह ने समारोह को संबोधित किया। राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की गिनती ताकतवर देशों में होती है। साल 2014 के बाद अंतरराष्ट्रीय दुनिया में भारत की साख बढ़ी है।

भारत दुनिया को यह संदेश देने में सफल रहा है कि अगर दुनिया का कोई भी देश भारत को चिढ़ाता है तो भारत उसे नहीं छोड़ेगा। भारत एक शांतिप्रिय देश के रूप में जाना जाता है। भारत का इतिहास यह रहा है कि हमने कभी किसी देश पर आक्रमण नहीं किया और न ही किसी देश की एक इंच भूमि पर कब्जा किया। उन्होंने कहा कि लोग इतिहास पढ़ते हैं लेकिन 1971 के युद्ध में भाग लेने वाले हर भारतीय सैनिक ने इतिहास रच दिया।

हमें अपने सभी जवानों पर गर्व है। पाकिस्तान पर निर्णायक जीत के साथ हमने दुनिया को बताया कि भारत और पाकिस्तान की तुलना नहीं की जा सकती। यह संदेश हमने 1971 में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को दिया था, जहां तक आज के भारत का सवाल है, इसे दुनिया के सबसे मजबूत देशों में से एक माना जाता है। इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता कि दुनिया के सामने भारत का गौरव बढ़ा है।

उन्होंने आगे कहा धीरे-धीरे यह संदेश देने में सफल रहा है। दुनिया का सबसे ताकतवर देश कोई भी हो, अगर कोई भारत के लिए कुछ करता है तो भारत उसे नहीं बख्शेगा। यह भरोसा लोगों के अंदर आया है। लोगों ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने की ताकत सिर्फ अमेरिका और इस्राइल के पास है। लेकिन अब हालात बदल चुके हैं, आज दुनिया मानने लगी है कि भारत के पास भी आतंकवाद से लड़ने की ताकत है।

हमने सर्जिकल स्ट्राइक और एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया। ऐसे किसी को उम्मीद नहीं थी। 1971 के युद्ध और 1999 के कारगिल युद्ध में हारे पाकिस्तान को अब आतंकवाद से अपना नाता तोड़ना होगा। इस बार हमारे जवान उस पड़ोसी देश को संदेश भेजने में सफल रहे। वही राजनाथ सिंह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा मुझे दुख है कि कुछ राजनीतिक दल हमारे जवानों की वीरता पर सवाल उठाने की कोशिश कर रहे हैं। वे तृत्व का नाम लेते हैं लेकिन नेता सरहद पर नहीं लड़ते, जवान लड़ते हैं।

उन्होंने कहा हमारा एक और पड़ोसी है।आप इसे अच्छी तरह से जानते हैं, इसे नाम देने की जरूरत नहीं है। उन्होंने मनमर्जी से सबके साथ रहने का मन बना लिया है। कई देशों ने इसका विरोध नहीं किया जैसा उन्हें करना चाहिए था। पहले हमारी स्थिति ऐसी ही थी लेकिन 2014 के बाद स्थिति बदल गई है। उन्होंने कहा कि हम अपने सशस्त्र बलों के हाथ कभी नहीं बांधेंगे।

उन्हें निर्णय लेने होते हैं। हम उनके फैसले पर कायम रहेंगे, चाहे कुछ भी हो जाए। यही मैं रक्षा मंत्री के रूप में कहता हूं। अनजाने में फैसला गलत निकला तो भी हम अपने जवानों के साथ खड़े रहेंगे। हमने 209 चीजों की 'पॉजिटिव लिस्ट' जारी की है। इसके अलावा हम और चीजों की 'लिस्ट' जारी करने पर विचार कर रहे हैं। हम कहते हैं 'मेक इन इंडिया और मेक फॉर द वर्ल्ड'। पहले हम 70% रक्षा सामान का आयात करते थे, अब हम केवल 35% रक्षा खरीद का आयात कर रहे हैं।

और पढ़ें
Next Story