Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना मरीजों में पहली बार मल के रास्ते ब्लीडिंग का दिखा लक्षण, 'साइटोमेगालोवायरस' को लेकर दी चेतावनी

कोरोना मरीजों में साइटोमेगैलोवायरस (Cytomegalovirus-CMV) का लक्षण दिखा है, जिसके बाद डॉक्टर्स ने चेतावनी दी है।

कोरोना मरीजों में पहली बार मल के रास्ते ब्लीडिंग का दिखा लक्षण, साइटोमेगालोवायरस को लेकर दी चेतावनी
X

कोरोना (Corona Virus) से ठीक होने वाली मरीजों में अलग अलग तरह से लक्षण दिखाई दे रहे हैं। अब दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में कोरोना मरीजों में नया लक्षण दिखा है। कोरोना मरीजों में साइटोमेगैलोवायरस (Cytomegalovirus-CMV) का लक्षण दिखा है, जिसके बाद डॉक्टर्स ने चेतावनी दी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में 5 मरीजों में साइटोमेगैलोवायरस यानी मल के साथ खून आने के लक्षण दिखे हैं। सर गंगा राम अस्पताल के डॉ. अनिल अरोड़ा ने जानकारी दी है कि इन मरीजों के पेट में दर्ज और मल में खून की शिकायत बताई थी। अभी इन मरीजों को कोरोना से ठीक हुए सिर्फ एक महीना ही हुआ है।

अनिल अरोड़ा ने बताया कि अप्रैल और मई महीने में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कुछ महीने बाद ही 5 मरीज साइटोमेगैलोवायरस से पीड़ित मिले हैं। फिलहाल, अभी जांच की जा रही है। ये लक्षण उन मरीजों में देखे गए हैं, जो कोरोना वायरस से इम्युन थे। वहीं दूसरी तरफ देश में नए वेरिएंट डेल्टा प्लस को लेकर भी डॉक्टर्स ने चेतावनी दी है।

अरोड़ा ने कहा कि साइटोमेगैलोवायरस के लक्षण 80 से 90 फीसदी भारतीय लोगों में मौजूद हैं। ऐसे में हमें प्रतिरक्षा क्षमता को ठीक करना होगा। इन लोगों की उम्र 30-70 साल बताई है। वहीं एक मरीज को आंतों में रुकावट थी। एक मरीज की मौत हो चुकी है।

Next Story