Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चक्रवात यास: ओडिशा में एनडीआरएफ की 18 टीमें तैनात, चार टीमों को रिजर्व रखा गया

ओडिशा सरकार के अनुसार, 66 ओडिशा डिजास्टर रैपिड एक्शन फोर्स (ओडीआरएएफ) की टीमों और 177 दमकल सेवाओं की टीमों को उन क्षेत्रों में तैनात किया जा रहा है जहां पर चक्रवात से प्रभावित होने की ज्यादा संभावना है।

चक्रवात यास: ओडिशा में एनडीआरएफ की 18 टीमें तैनात, चार टीमों को रिजर्व रखा गया
X

चक्रवात यास के मद्देनजर ओडिशा में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की 18 टीमों को तैनात किया गया है। बालासोर में सात, भद्रक में 4, केंद्रपाड़ा में 3, जाजपुर में 2, जगतसिंहपुर और मयूरभंज में एक-एक दल तैनात किया गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एनडीआरएफ ने बताया है कि चार टीमों को रिजर्व रखा गया है।

ओडिशा सरकार के अनुसार, 66 ओडिशा डिजास्टर रैपिड एक्शन फोर्स (ओडीआरएएफ) की टीमों और 177 दमकल सेवाओं की टीमों को उन क्षेत्रों में तैनात किया जा रहा है जहां पर चक्रवात से प्रभावित होने की ज्यादा संभावना है।

बता दें कि भारतीय वायु सेना ने रविवार को एनडीआरएफ के 334 कर्मियों के साथ 21 टन मानवीय सहायता और आपदा राहत उपकरण एयरलिफ्ट किए हैं। चक्रवात के प्रभाव को कम करने के लिए भारतीय वायुसेना ने 21 मई से अब तक 606 कर्मियों और एनडीआरएफ के 57 टन भार को एयरलिफ्ट किया है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि भुवनेश्वर में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के उप निदेशक उमाशंकर दास ने रविवार को कहा कि मयूरभंज, भद्रक और बालासोर जिलों के 26 मई को राज्य में पहुंचने वाले चक्रवाती तूफान यास से सबसे ज्यादा प्रभावित होने की संभावना है। उमाशंकर दास ने एएनआई को बताया, उत्तर उत्तर-पश्चिम दिशा में और 26 मई को यह ओडिशा, पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट पर पहुंचेगा।

दास ने कहा कि उत्तरी ओडिशा के जिलों, विशेष रूप से मयूरभंज, भद्रक और बालासोर में सबसे अधिक प्रभावित होने की आशंका है। आईएमडी भुवनेश्वर के उप निदेशक ने बताया कि भद्रक, बालासोर, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, कटक, खोरधा और पुरी में 25 मई को भारी से भारी बारिश होने की संभावना है।

Next Story