Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Tauktae Cyclone छह घंटे में होगा उफान पर, गुजरात समेत इन पांच राज्यों को खतरा, 50 से ज्यादा रेस्क्यू टीमें मौके पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) और केंद्र के शीर्ष अधिकारियों की बैठक लेकर इस आपदा से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा करेंगे। केरल और महाराष्ट्र समेत पांच राज्यों के लिए अलर्ट जारी।

Tauktae Cyclone Update : गोवा में
X

अरब सागर में बने दबाव के चलते सक्रिय हुआ तौकाते चक्रवाती तूफान (Cyclone Tauktae) छह घंटे में पूरे उफान पर आ सकता है। केरल और आसपास के क्षेत्रों में इस समय भारी बारिश हो रही है। तौकाते तूफान से तबाही मचना तय है, लिहाजा गुजरात समेत पांच राज्यों में रेस्क्यू टीमों को तैनात कर दिया गया है। हालात की गंभीरता का अंदाजा यहां से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज शाम को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) के अधिकारियों और केंद्र के शीर्ष अधिकारियों की बैठक लेकर इस आपदा से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा करेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अरब सागर में बने क्षेत्रीय दबाव के चलते शुक्रवार से ही केरल में भारी बारिश हो रही है। इस दौरान कई मकानों और पेड़ों को भारी नुकसान पहुंचा है। बिजली के पोल गिरने से बिजली आपूर्ति भी बाधित हो गई है। तौकाते तूफान के आगे बढ़ने के बाद बड़ी तबाही मच सकती है। आईएमडी के चक्रवाती प्रभाग की ओर से जारी चेतावनी के बाद केरल के साथ ही कर्नाटक, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और गुजरात में भी एनडीआरएफ की 50 से ज्यादा टीमों को तैनात किया गया है। तौकाते की वजह से राजस्थान और आसपास के क्षेत्रों में भी बारिश हो सकती है।

क्यों खतरनाक है तौकाते तूफान

तौकाते तूफान के दौरान 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाएं चलेंगी। आईएमडी का कहना है कि तौकाते तूफान की रफ्तार बीच-बीच में 175 किलोमीटर प्रति घंटा भी हो सकती है। केरल के पांच जिलों मलप्पुरम, कोझीकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड में अत्यधिक भारी बारिश की आशंका के साथ रेड अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को सलाह दी गई है कि वो समुद्री क्षेत्रों से दूर रहे और घरों से बाहर न निकलें।

साल का पहला चक्रवाती तूफान

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह साल का पहला चक्रवाती तूफान है। इसे तौकाते नाम म्यांमार ने दिया है। तौकाते का मतलब छिपकली होता है। कोरोना काल में आ रही इस तबाही से निपटने के लिए केंद्र के साथ संबंधित राज्य सरकारें भी हालात पर नजर बनाए हैं।

Next Story