Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cyclone History: जानें कैसे बनते हैं दुनिया में कहर बरपाने वाले ये चक्रवाती तूफान, भारत में ऐसे रखे जाते हैं नाम

भारत में ज्यादातर तूफान बंगाल की खाड़ी में ही बनते हैं, जो ओडिशा, आंध्र प्रदेश और बंगाल जैसे राज्यों को ज्यादा प्रभावित करते हैं। अभी सुर्खियों में ताजा तूफान असानी है।

Cyclone History: जानें कैसे बनते हैं दुनिया में कहर बरपाने वाले ये चक्रवाती तूफान, भारत में ऐसे रखे जाते हैं नाम
X

भारत (India) ही नहीं दुनिया के तमाम देशों में समुद्र किनारे चक्रवाती तूफान (cyclonic storms) आते रहते हैं। कई बार ये तूफान इतने भयंकर होते हैं कि ये हजारों जिंदगियों को प्रभावित कर जाते हैं। भारत में ज्यादातर तूफान बंगाल की खाड़ी में ही बनते हैं, जो ओडिशा, आंध्र प्रदेश और बंगाल जैसे राज्यों को ज्यादा प्रभावित करते हैं। अभी सुर्खियों में ताजा तूफान असानी है, जो बंगाल की खाड़ी में कम दबाव में बनने के बाद तूफान में तब्दील हो गया है।

चक्रवाती तूफान कैसे होता है?

सबसे पहले बात करते हैं कि आखिर ये चक्रवाती तूफान कैसा होता है। चक्रवात एक गठन है, जो कम वायुमंडलीय दबाव के साथ गर्म हवा के आसपास होता है। जब एक तरफ से गर्म हवा और दूसरी तरफ से ठंडी हवा मिलती है। तो यह एक गोलाकार तूफान का रूप लेने लगता है और इसे ही चक्रवात कहा जाता है। साफ शब्दों में कहा जाए तो जब समुद्र के पानी को गर्म किया जाता है तो उसके ऊपर की हवा भी गर्म होकर ऊपर उठ जाती है। इस स्थान पर निम्न दाब का क्षेत्र बनने लगता है।

भारत ही नहीं दुनिया में तूफानों के नाम कैसे रखे जाते हैं

सभी देश सबसे पहले चक्रवातों के नाम डब्ल्यूएमओ यानी विश्व मौसम विज्ञान संगठन को भेजते हैं। तूफान की गति को देखते हुए देशों द्वारा दिए गए नामों में से एक का नाम उस तूफान के नाम पर रखा गया है। चक्रवाती तूफानों के नाम इसलिए रखे गए हैं, ताकि लोगों को इसके बारे में आसानी से आगाह किया जा सके। भारत में जो तूफान आते हैं उसके ज्यादातर नाम पड़ोसी देशों से ही लिये जाते हैं, असानी नाम श्रीलंका ने दिया है। जो 'क्रोध' या गुस्से के लिए इस्तेमाल होता है। इसे सिंहली भाषा का शब्द है

ये है दुनिया का सबसे खतरनाक तूफान

दुनिया का सबसे खतरनाक तूफान 1989 में बांग्लादेश में आया था। यह तूफान 26 अप्रैल को बांग्लादेश के मानिकगंज जिले में आया था। जिसमें करीब 1300 लोग मारे गए और 12 हजार लोग बेघर हो गए, 80 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए थे। इस तूफान का नाम था टॉरनेडो यानी बवंडर।

और पढ़ें
Next Story