Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cyclone Amphan : बंगाल में पीएम मोदी ने किया हवाई सर्वेक्षण, राहत पैकेज की घोषणा

Cyclone Amphan : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अपील के बाद बंगाल के तूफान प्रभावित इलाकों का आज हवाई सर्वेक्षण के द्वारा दौरा किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के लिए राहत पैकेज का ऐलान भी कर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अप्रवासी मजदूरों को रुपये भेजना चाहते थे, इस कारण से अटक गई थी योजना

Cyclone Amphan : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अपील के बाद बंगाल के तूफान प्रभावित इलाकों का आज हवाई सर्वेक्षण के द्वारा दौरा किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के लिए राहत पैकेज का ऐलान भी कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ममता के आग्रह पर पश्चिम बंगाल का दौरा किया। जहां उन्होंने अम्फान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण और इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के लिए 1000 करोड रुपए के पैकेज का ऐलान किया गया है। जो इस तूफान में प्रभावित लोग हैं। बंगाल में अम्फान के कारण अबतक 80 की मौत हो गई है।

ममता बनर्जी के साथ पीएम मोदी ने बंगाल का हवाई सर्वेक्षण किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल का हवाई सर्वेक्षण किया। जिसमें चक्रवात अम्फान की तबाही का कारण बना, जिसमे बीते दिन 72 लोगों की जान ले ली। उन्होंने राहत उपायों पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के साथ समीक्षा बैठक की और स्थिति का जायजा लिया।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने आज अपने बंगाल के समकक्ष से बातचीत की और बेहद भयंकर चक्रवाती तूफान के कारण हुए नुकसान की तीव्रता के बारे में जानकारी ली। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अपने बंगाल के समकक्ष से बातचीत की और बेहद भयंकर चक्रवाती तूफान के कारण हुए नुकसान की तीव्रता के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने वर्तमान संकट को दूर करने के लिए हर संभव सहायता का आश्वासन भी दिया। 72 में से 15 मौतें कोलकाता से हुई थीं। चक्रवात, जो शुक्रवार को एक अवसाद में कमजोर हो गया था, को उत्तरी बांग्लादेश और पड़ोसी क्षेत्र में कम दबाव वाले क्षेत्र में कम कर दिया गया।

मौसम विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार कहा को कहा कि उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने और अगले 12 घंटों के दौरान कम दबाव के क्षेत्र में कमजोर पड़ने की संभावना है। चक्रवात बंगाल और ओडिशा से टकराया जब यह कोरोनवायरस के प्रसारण से लड़ने के लिए पहले से ही संघर्ष कर रहा है।

Next Story
Top