Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नये केस, 24 घंटे में 3700 से ज्यादा लोगों की हुई मौत

पिछले 24 घंटों में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नये मामले हुए 3.80 लाख के पार। मौतों के आंकड़े में भी हुआ भारी इजाफा

देश में फिर बढ़े कोरोना संक्रमण के नये केस, 24 घंटे में 3700 से ज्यादा लोगों की हुई मौत
X

देश में पिछले दो दिनों से घंटे (Coronavirus) कोरोना संक्रमण के मामलों ने बीतें 24 घंटे में फिर बढ़त बना ली है। बुधवार सुबह को जारी आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 3 80 लाख से भी ज्यादा कोरोना संक्रमण के नये मामले सामने आये है। वहीं 3700 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार तेजी से बढ़ रहे इन कोरोना संक्रमण के मरीजों के साथ्ज्ञ देश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 34 लाख 87 हजार 229 हो गई है। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से होने वाली लोगों की मौत की आंकड़ा 2 लाख 26 हजार 188 पर पहुंच गया है। देश के ज्यादातर राज्यों में त्राहि मची हुई है। डॉक्टर से लेकर एक्सपर्ट कोरोना की चेन तोड़ने के लिए केंद्र सरकार से बार बार सख्त लॉकडाउन लगाने की अपील भी कर रहे हैं।

दरअसल, पिछले दो दिनों से कोरोना संक्रमण के नये मामलों में कमी से उम्मीद थी कि अब यह खत्म होने की तरफ है, लेकिन बुधवार को कोरोना संक्रमण के नये मरीज और मौतों का आंकड़ा फिर से बढ़ गया। बुधवार को देश में कोरोना संक्रमण के 3 लाख 82 हजार 315 मरीज सामने आये। वहीं 3718 और लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई। बीते 24 घंटों में कोरोना के एक्टिव केसों में भी इजाफा हुआ है। साथ ही देश में टीकाकरण तेजी से चल रहा है। मंगलवार को 14,84,989 लोगों का टीकाकरण हुआ। इसके बाद कुल टीकाकरण की संख्या 16,04,94,188 हो गई। वहीं राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र कोरोना संक्रमण के नये मामलों में सबसे ऊपर है। यहां बुधवार को कोरोना संक्रमण के 51880 मरीज सामने आये है। जबकि 891 की मौत हो गई। वहीं पूर्ण लॉकडाउन के बाद भी हरियाणा में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 15786 नये मामले सामने आये हैं। इनमें 153 मरीजों की कोरोना से मौत हो गई। हरियाणा में कुल संक्रमितों की संख्या 5 लाख 43 हजार 559 हो गई है।

इसके साथ मध्यप्रदेश, कर्नाटक और दिल्ली में लगातार कोरोना के आंकड़े रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। कोरोना संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है। वहीं ऑक्सिजन की कमी से जुझ रहे अस्पतालों में हर दिन मरीजों की जान जा रही है।

Next Story