Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Coronavirus: आयुर्वेद से संभव है कोरोना वायरस का इलाज

Coronavirus: दुनियाभर मेें इस समय कोरोना वायरस तेेजी से फैल रहा है। भारत में भी यह दस्तक दे चुका है। इसी के चलते आयुष मंत्रालय ने इससे बचने के लिए कुछ उपचार दिए है।

Coronavirus: आयुर्वेद से संभव है कोरोना वायरस का इलाजCoronavirus: आयुर्वेद से संभव है कोरोना वायरस का इलाज

Coronavirus : चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस अब तक दुनिया के ज्यादातर देशों तक पहुंच चुका है। भारत में भी यह दस्तक दे चुका है। भारत में पहला मामला केरल से सामने आया था। अब ताजा मामला नोएडा के एक स्कूल में सामने आया है।

इस कोरोना वायरस संक्रमण का अभी कोई इलाज संभव नहीं है। मगर इस कोरोना वायरस का इलाज आयुर्वेद से संभव है। आप आयुर्वेद के जरिए इससे बच सकते है। भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने इस वायरस के खतरे को देखते हुए इसका आयुर्वेदिक इलाज बताया है। आइए जानें कोरोना वायरस से बचने के लिए आयुर्वेद में क्या इलाज संभव है। स्वस्थ आहार और जीवन शैली के माध्यम से प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए आपको कुछ उपाय करने होंगे। जिसके जरिए आप इस अपने आप को इससे बचा सकते है।

-अगस्त्य हरितकी 5 ग्राम, दिन में दो बार गर्म पानी के साथ लें।

-शेषमणि वटी 500 मिलीग्राम दिन में दो बार लें।

-त्रिकटु (पिप्पली, मारीच और शुंठी) पाउडर 5 ग्राम और तुलसी 3-5 पत्तियां (1-लीटर पानी में उबालें, जब तक यह ½ लीटर तक कम नहीं हो जाता है और इसे एक बोतल में रख लें) इसे आवश्यकतानुसार और जब चाहे तब घूंट में लेते रहें।

- प्रत्येक नथुने में प्रतिदिन सुबह अनु तेल / तिल के तेल की दो बूंदें डालें।

-शदांग पनिया (मुस्ता, परपाट, उशीर, चंदन, उडिच्य़ा और नागर) प्रसंस्कृत पानी (1 लीटर पानी में 10 ग्राम पाउडर डाल कर उबालें, जब तक यह आधा तक कम न हो जाए) पी लें। इसे एक बोतल में स्टोर करें और प्यास लगने पर पिएं।


किन-किन बातों को खास ध्यान रखें

-साबुन और पानी से अपने हाथों को कम से कम 20 सेकैंड तक धोएं।

-कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने हाथों को अक्सर साबुन और पानी से धोएं।

-बिना धोए हाथों से अपनी आंखें, नाक और मुंह छूने से बचें।

-कोरोना वायरस से जो लोग बीमार हैं उनके निकट संपर्क से बचें।

-कोरोना वायरस के मरीज घर में रहें।

-खांसी या छींक के दौरान अपना चेहरा ढंक लें और खांसने या छींकने के बाद अपने हाथों को धो लें।

-संक्रमण से बचने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर यात्रा करते समय या काम करते समय एक एन95 मास्क का उपयोग करें।

-यदि आपको कोरोना वायरल संक्रमण का संदेह है, तो मास्क पहनें और तुरंत अपने नजदीकी अस्पताल से संपर्क करें।

बाबा रामदेव ने भी कोरोना वायरस से बचने के उपाय बतायें


बाबा रामदेव कोरोना वायरस से बचने के लिए उपाय बताए हैं। बाबा रामदेव ने यह कहा है कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटी गिलोय (टीनोस्पोरा कोर्डिफोलिया) इसके लिए उपयोगी है। संस्कृत में, गिलोय को 'अमृता' के रूप में जाना जाता है, क्योंकि इसमें प्रचुर औषधीय गुण हैं। स्वामी रामदेव ने कहा कि गिलोय को पानी में उबालना चाहिए और फिर हल्दी, काली मिर्च पाउडर और तुलसी के पत्ते मिलाने चाहिए। मिश्रण को तब गाढ़े रस के रूप में पीना चाहिए। इससे मरीज को फायदा होगा।

Next Story
Top