Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम नरेंद्र मोदी सरकार का बड़ा फैसला, देशभर में दुकानें खोलने को दी मंजूरी

केंद्र सरकार की तरफ से लॉकडाउन के दौरान दुकानें खोलने का बड़ा फैसला किया गया है। गृहमंत्रालय ने केंद्र शासित प्रदेश और राज्यों में नगर निगम/पालिका की सीमा से बाहर दुकानों को खोलने की मंजूरी दे दी है।

Coronavirus Lockdown: प्रशासन ने किया है दुकानों से सामान खरीदने का बेहतरीन उपाय, जानें कैसे ले सकेंगे सामान
X
सरकार ने दुकानें खोलने को दी अनुमति (फाइल)

कोरोना वायरस के कारण व्यापार में नुकसान से जूझ रहे छोटे व्यापारियों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने थोड़ी राहत दी है। नगर निगम-पालिका क्षेत्र की सीमा से बाहर दुकानों को खोलने की मंजूरी दे दी है। लेकिन इसके साथ कड़े नियम तय कर दिए गए हैं जिनका पालन करने पर ही छोटे व्यापारी दुकानें खोल सकते हैं।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से दुकान खोलने के संबंध में शुक्रवार देर रात आदेश जारी किए गए हैं। जिसके मुताबिक नगर निगम और नगर पालिका की सीमा से बाहर मौजूद दुकानें ही खुल सकेंगी। पंजीकृत दुकानों को खोलने की मंजूरी होगी। नगर निगम/पालिका की सीमा से बाहर रिहायशी और मार्केट एरिया में मौजूद दुकानें खुल सकेंगी।

इसके अलावा शहरी/ग्रामीण क्षेत्र में नगर निगम/पालिका की सीमा के भीतर रेजिडेंशियल कॉम्प्लैक्स और कॉलोनियों में मौजूद पड़ोस की दुकान खुल सकेंगी। इसमें जरूरी और गैर जरूरी वस्तुओं से जुड़ी दुकानें शामिल हैं।

दूसरी तरफ दुकान खोलने के बाद दुकानदार को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना होगा। इसके अलावा दुकानों पर अधिकतम 50 फीसदी स्टाफ ही कार्य कर सकेगा। इस दौरान प्रत्येक कर्मचारी के मुंह पर मास्क और हाथों में ग्लव्ज होना जरूरी है। ऐसा नहीं होने पर संबंधित प्रशासन कार्रवाई करेगा। पढ़िए गृह मंत्रालय के आदेश की पीडीएफ फाइल।

मॉल और शॉपिंग कॉम्प्लैक्स को नहीं छूट

सरकार की तरफ से अभी मॉल और शॉपिंग कॉम्प्लैक्स को छूट नहीं दी गई है। नगर निगम की सीमा के भीतर और बाहर मौजूद मॉल 3 मई तक बंद रहेंगे। लॉकडाउन खत्म होने के बाद इसका फैसला लिया जाएगा।

हॉटस्पॉट क्षेत्रों में नहीं लागू होगा यह नियम

केंद्र सरकार ने तय किया है कि हॉटस्पॉट क्षेत्रों में यह नियम लागू नहीं होगा। राज्य सरकारों की तरफ से कंटेनमेंट जोन घोषित किए जा चुके इलाकों में दुकानें अभी नहीं खुलेंगी। केंद्र सरकार ने नए निर्देश जारी करने के बाद राज्य सरकारों के ऊपर यह फैसला छोड़ा है। यानि अंतिम फैसला राज्य सरकारों को इसे लागू करने के संबंध में लेना है।

Next Story
Top