Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वायरस के कहर से थोड़ी राहत, मृत्यु दर पहुंची इस स्तर पर

देश में कोरोना का संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ रहा है। अब रोजाना 45 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आने लगे हैं। संक्रमितों आंकड़ा तकरीबन 15 लाख तक पहुंच गया है। हालांकि आंकड़े बता रहे हैं कि देश में रिकवरी दी जहां बढ़कर 64 फीसदी से ऊपर निकल चुकी है।

कोरोना वायरस के कहर से थोड़ी राहत, मृत्यु दर पहुंची इस स्तर पर
X
कोरोना वायरस

देश में कोरोना का संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ रहा है। अब रोजाना 45 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आने लगे हैं। संक्रमितों आंकड़ा तकरीबन 15 लाख तक पहुंच गया है। हालांकि आंकड़े बता रहे हैं कि देश में रिकवरी दी जहां बढ़कर 64 फीसदी से ऊपर निकल चुकी है वहीं कोविड-19 से मरने वालों की दर भी बेहद कम महज 2.25 फीसदी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक मौजूदा समय में कोविड-19 वायरस संक्रमण से देश में मृत्युदर महज 2.25 फीसदी है।

जो कि दुनिया में सबसे कम है। वहीं रिकवरी दर भी तेजी से बढ़ते हुए 64.24 फीसदी हो गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान 35,176 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। इसके बाद कोरोना को मात देने वालों का आंकड़ा बढ़कर 9,52,743 हो गया है। वहीं एक दिन में लगातार छठे दिन 45 हजार से ज्यादा 47,703 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं, जिसके चलते संक्रमितों की कुल संख्या 14,83,156 हो चुकी है।

मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़े बताते हैं कि पिछले 24 घंटे में 654 मरीजों की मौत हुई है और कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 33,425 हो गया है। देश में सक्रिय मरीजों की संख्या 4,96,988 है,जिनका इलाज चल रहा है।

मरीजों का आंकड़ा 15 लाख पार

कोविड-19 के 47,703 नए मामले आने से मंगलवार को संक्रमित मरीजों की संख्या 1,516,738 हो गई। संक्रमण से 654 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या 33,425 हो गयी है। मंत्रालय ने कहा कि अस्पतालों के बोझ को कम करना सुनिश्चित किया गया और बिना लक्षण वाले मरीजों को निगरानी में घर में पृथक-वास में रखने की पहल की गई। केंद्र सरकार के मार्गदर्शन में राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों ने गंभीर मामलों से निपटने में प्रभावी तरीके अपनाए।

राज्यों की मदद कर रही विशेषज्ञों की टीम

मंत्रालय ने कहा है कि एम्स, नई दिल्ली की विशेषज्ञ टीम द्वारा राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को संक्रमण के मामलों से निपटने में मदद की जा रही है। संक्रमित मरीज की जल्दी पहचान की जा रही है और उन्हें पृथक-वास में भेजा जा रहा है। इसके साथ ही अस्पताल के मामलों में प्रभावी प्रबंधन को लेकर कदम उठाए गए हैं। केंद्रीय दल का भी लगातार दौरा हो रहा है। इन सब प्रयासों की बदौलत मृत्यु दर कम हो रही है और ठीक होने की दर बेहतर हो रही है।

Next Story
Top