Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर का विवादित बयान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कहा कातिल!

दिल्ली चुनावों से पहले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने विवादित बयान दिया है। सीएए-एनआरसी के विरोध में चल रहे धरने में समर्थन देने पहुंचे मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कातिल कहा है!

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर का विवादित बयान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कहा कातिल!शाहीद बाग में प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते मणिशंकर अय्यर

दिल्ली चुनावों से पहले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने विवादित बयान दिया है। शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी को कातिल बताया है! साथ ही चुनौती दी है कि देखना है कि किसका हाथ मजबूत है।
नागरिकता संशोधन विधेयक और एनआरसी को लेकर शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। प्रदर्शनकारियों को समर्थन देने के लिए मणिशंकर अय्यर भी पहुंचे। कांग्रेस नेता ने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए विवादित बयान दिया है। हालांकि मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री का नाम कहीं पर नहीं लिया।

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा कि जो भी कुर्बानियां देनी हों उसमें मैं भी शामिल होने के लिए तैयार हूं। अब देखें कि किसका हाथ मजबूत है। हमारा या उस कातिल का। जिसके बाद मणिशंकर अय्यर को बयान को लेकर विवाद बढ़ गया है। लोगों का कहना है कि कातिल शब्द प्रधानमंत्री मोदी के लिए इस्तेमाल किया गया है।

हराने के लिए काफी अय्यर की रैली

दूसरी तरफ मणिशंकर अय्यर की टिप्पणी के बाद लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। सोशल मीडिया यूजर्स ने मणिशंकर अय्यर को लेकर निशाना साधा है। यूजर्स ने कहा है कि कांग्रेस को हराने के लिए मणिशंकर अय्यर की दो तीन रैली ही काफी हैं। यूजर रजनीश सिंह ने लिखा है कि दिल्ली चुनाव से पहले 2-3 रैलियां कर दो वहीं काफ़ी है ज़्यादा कुर्बानी देने का काम नहीं है!

राम सिंह ने लिखा है कि कांग्रेस अपने निजी स्वार्थ के लिए देश जलाने निकल पड़ी है। अब जनता को मजबूत हो कर कोंग्रेस को जवाब देना पड़ेगा।

मणिशंकर अय्यर के विवादित बयान

मणिशंकर अय्यर का विवादों से नाता रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कई बार विवादित बयान दे चुके हैं। लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस नेता ने मोदी को नीच कहा था। जिसकी उस दौरान जमकर आलोचना हुई थी। इसके अलावा 2014 में लोकसभा के दौरान चायवाले के नाम पर मोदी की बेइज्जती की गई। इसके अलावा 2013 में पीएम मोदी को जोकर कहा गया।

Next Story
Top