Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ममता बनर्जी इलेक्ट्रिक स्कूटर से गिरते-गिरते बचीं..., बोलीं- मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया, यहां देखें वीडियो

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने आज अनोखे अंदाज में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में हो रही वृद्धि के खिलाफ विरोध दर्ज कराया। उन्होंने हाजरा मोड़ से सात राज्य सचिवालय तक करीब सात किलोमीटर का सफर इलेक्ट्रिक बाइक से तय किया। इस दौरान जब खुद बाइक चलाने की कोशिश की तो गिरते गिरते बचीं।

ममता बनर्जी इलेक्ट्रिक स्कूटर से गिरते-गिरते बचीं..., बोलीं- मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया, यहां देखें वीडियो
X

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में हो रही वृद्धि के खिलाफ विरोध दर्ज कराने के लिए आज इलेक्ट्रिक स्कूटर पर सवार होकर राज्य सचिवालय नबान्न पहुंचीं। इस दौरान एक मौका ऐसा आया, जब वे स्कूटर से गिरते-गिरते बाल-बाल बच गईं। हालांकि वहां तैनात सुरक्षा कर्मी और नेताओं ने समय रहते उनको गिरने से बचा लिया।

पश्चिम बंगाल में चुनाव नजदीक आने के साथ ही सियासी पारा तेज हो गया है। यहां भाजपा और टीएमसी के बीच कड़ा मुकाबला होना तय है। दोनों ही पार्टियां एक दूसरे पर कड़े प्रहार कर रही हैं। पेट्रोलियम पदार्थों में जब बढ़ोतरी की खबर सामने आई तो सीएम ममता बनर्जी ने इसके खिलाफ अनोखे अंदाज में विरोध दर्ज कराया। उन्होंने इलेक्ट्रिक स्कूटर मार्च में हिस्सा लिया। शुरू में उनके इलेक्ट्रिक स्कूटर को राज्य सरकार के मंत्री और कोलकाता नगर निगम के मेयर फरहाद हकीम चला रहे थे। कुछ समय बाद ममता दीदी ने स्वयं इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाने की कोशिश की। इस कोशिश में वे नीचे गिरते गिरते बाल-बाल बचीं।

एक तरफ जहां सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों और नेताओं ने स्कूटी को गिरने से पकड़ लिया, वहीं सीएम ममता बनर्जी ने भी स्पीड कंट्रोल कर ली। हालांकि इस दौरान उनका मोबाइल नीचे गिर गया। ममता दीदी समेत तमाम नेताओं ने गले में तख्ती टांग रखी थी, जिस पर पेट्रोलियम पदार्थों की वृद्धि के खिलाफ नारे लिखे थे। हाजरा मोड़ से सात किलोमीटर का सफर तय करते हुए राज्य सचिवालय पहुंचने में उन्हें करीब 45 मिनट का समय लगा।

बोलीं- मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया

यहां पर ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि मोदी सरकार केवल झूठे वादे करती है। मोदी सरकार ने ईंधन की कीमत को कम करने के लिए कुछ नहीं किया। आप मोदी सरकार के सत्ता में आने के पहले और अब के पेट्रोल-डीजल की कीमतों में अंतर देख सकते हो। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस शुक्रवार से ईंधन के दामों में वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन शुरू करेगी।

Next Story