Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- पंजाब में सत्ता की गंदी लड़ाई चल रही, राज्य को 'आप' दे सकती है स्थिर और ईमानदार सरकार

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इस वक़्त पंजाब में राजनीतिक अस्थिरता (political instability) बनी हुई है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- पंजाब में सत्ता की गंदी लड़ाई चल रही, राज्य को आप दे सकती है स्थिर और ईमानदार सरकार
X

आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) मोहाली (Mohali) में पंजाब की राजनीति को लेकर बयान दिया है और कांग्रेस पर निशाना साधा है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इस वक़्त पंजाब में राजनीतिक अस्थिरता (political instability) बनी हुई है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

यहां सत्ता की गंदी लड़ाई (dirty fight) चल रही है लोगों को समझ नहीं आ रहा है कि वे अपनी समस्याएं लेकर कहां जाएं। इन लोगों ने सरकार को तमाशा (Farce) बना दिया है। सीएम ने कहा कि अब आम आदमी पार्टी (AAP) ही पंजाब को एक स्थिर, अच्छी और ईमानदार सरकार (honest government) दे सकती है। विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में केवल 4 महीने रह गए हैं। 4 महीने बाद जब चुनाव होंगे तब आम आदमी पार्टी पंजाब में स्थिर और ईमानदार सरकार देगी।

मैं पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से निवेदन करता हूं कि वे जितने दागी मंत्री, विधायक और अफ़सर है, उनको तुरंत हटाएं। इनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएं। जो वादे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किए थे उन वादों को चरणजीत सिंह चन्नी पूरा करें। बरगाड़ी मामले के साजिशकर्ताओं के ख़िलाफ़ कार्रवाई करें। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि सभी किसानों के लोन माफ़ करेंगे चरणजीत सिंह चन्नी किसानों के लोन माफ़ करें। हम पंजाब में ऐसा मुख्यमंत्री देंगे की जिस पर आप सब को गर्व होगा।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस समय पंजाब में राजनीति संकट चल रहा है। बीते मंगलवार को पंजाब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। सिद्धू के बाद कैबिनेट मंत्री रजिया सुल्ताना ने भी पद से इस्तीफा दे दिया था।

वे अपना पद छोड़कर कैसे भाग सकते हैं

पंजाब के अमृतसर से कांग्रेस सांसद गुरजीत सिंह औजला ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे से मुझे भी बहुत दुख हुआ है। ऐसा नहीं होना चाहिए था। पार्टी ने आपको बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी दी है, वो निभानी चाहिए। ऐसा नहीं होता कि मुख्यमंत्री उनकी बात नहीं मानते। वे अपना पद छोड़कर कैसे भाग सकते हैं।

Next Story