Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पंजाब में सीएम अमरिंदर और नए पार्टी अध्यक्ष के बीच हलचल बरकरार, नवजोत सिंह सिद्धू आज श्रीहरिमंदिर साहिब के करेंगे दर्शन

सूत्रों की मानें तो 2024 के लोकसभा चुनाव तक सोनिया गांधी ही कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। साथ ही ऐसी संभावना है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी युवा चेहरों को संगठन में प्रमुख पदों पर नियुक्त कर सकती है। फिलहाल, लोकसभा चुनाव तक कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर कोई बदलाव होता नहीं दिख रहा है।

पंजाब में सीएम अमरिंदर और नए पार्टी अध्यक्ष के बीच हलचल बरकरार, नवजोत सिंह सिद्धू आज श्रीहरिमंदिर साहिब के करेंगे दर्शन
X

पंजाब में सीएम अमरिंदर और नए पार्टी अध्यक्ष के बीच हलचल बरकरार

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) और नए अध्यक्ष बनाए गए नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress Navjot Singh Sidhu) के बीच हलचल बढ़ती नजर आ रही है। क्योंकि पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू अपने समर्थकों से मिल रहे है। वहीं आज दोपहर में सिद्धू अमृतसर में श्रीहरिमंदिर साहिब (Harminder Sahib) में माथा टेकने के लिए पहुंचेंगे। इस दौरान एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाएगा। जिसमें उनके साथ कई मंत्री और विधायक भी मौजूद रहेंगे।

साफ है कि इसके मद्देनजर सिद्धू अपनी ताकत को प्रदर्शित करेंगे। वहीं दूसरी तरफ पंजाब के नए अध्यक्ष बनने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू अभी तक सीएम अमरिंदर से नहीं मिले है। उनकी मांग है कि पहले सिद्धू मांफी मांगे उसके बाद मैं उनसे मिलूंगा। वहीं, दूसरी तरफ सीएम अमरिंदर के करीबी मंत्री और विधायक जोर लगा रहे है कि इस रोड शो में कम से कम लोग मौजूद रहे। सिद्धू के श्रीहरिमंदिर साहिब जाने का आयोजन शक्ति प्रदर्शन में बदल गया है। सिद्धू भी लगातार विधायकों से संपर्क कर रहे हैं। उनके समर्थक मंत्री और विधायक अमृतसर पहुंचने का दबाव बना रहे हैं।

यही वजह है कि देर शाम को पंजाब कैबिनेट के सबसे वरिष्ठ मंत्री ब्रह्म मोहिंदरा ने बयान जारी कर स्पष्ट कर दिया कि जब तक कैप्टन के साथ मुद्दे सुलझ न जाएं तक तक विधायक सिद्धू के साथ न जाएं। उधर, सूत्रों की मानें तो 2024 के लोकसभा चुनाव तक सोनिया गांधी ही कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। साथ ही ऐसी संभावना है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी युवा चेहरों को संगठन में प्रमुख पदों पर नियुक्त कर सकती है। फिलहाल, लोकसभा चुनाव तक कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर कोई बदलाव होता नहीं दिख रहा है। हालांकि, पार्टी में बगावत करने वाले नेता को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है।

Next Story