Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Citizenship Amendment Bill का विरोध तेज, प्रदर्शनकारियों ने असम के सीएम और केंद्रीय मंत्री के घर किया पथराव

लोकसभा में यह बिल पास होने के बाद बुधवार को राज्यसभा ने भी इसे अपनी मंजूरी दे दी है। इसका विरोध करते हुए प्रदर्शनकारियों ने असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के घर पर पथराव और केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर पर हमला किया।

Citizenship Amendment Bill का विरोध तेज,  प्रदर्शनकारियों ने असम के सीएम और केंद्रीय मंत्री के घर किया पथराव
X
प्रदर्शनकारियों ने सीएम के घर पर किया पथराव

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर असम में लगातार गरम माहौल बना हुआ है। सोमवार को लगातार 7 घंटे की बहस के बाद बिल लोकसभा में पास कर दिया गया है। इसके बाद बुधवार को भी यह बिल राज्यसभा में पास हो गया है। तभी से असम में लोग जगह जगह बिल के विरोध में प्रदर्शन कर रहे है। इस कारण असम के गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में बुधवार को अनिश्चिकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया और असम के गुवाहाटी और जोरहाट में सेना को बुला लिया गया। वहीं त्रिपुरा में असम राइफल्स के जवानों को तैनात किया गया।

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के घर पर पथराव किया इसके अलावा असम के ही दुलियाजन में प्रदर्शनकारियों ने केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर पर हमला किया और संपत्तियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसी बीच कांग्रेस पार्टी ने 12 दिसंबर को त्रिपुरा में बंद का आह्वान किया है। लोकसभा में यह बिल पास होने के बाद बुधवार को राज्यसभा ने भी इसे अपनी मंजूरी दे दी है।

शहरों में व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच असम के 10 जिलों में बुधवार की शाम सात बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं। शांति भंग करने के लिए सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने और कानून और व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के लिए इंटरनेट सेवाओं को स्थगित रखा गया। वहीं त्रिपुरा राज्य में भी मंगलवार को दोपहर दो बजे से 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक वहां गुरुवार तक इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अगरतला में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य के किसी भी स्थान पर सेना तैनात नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि असम राइफल्स की टुकड़ियों को हिंसाग्रस्त धलाई जिले में तैनात रखा गया है जबकि कुछ अन्य स्थानों पर बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा में तैनात हैं। नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ आज बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी असम की सड़कों पर उतरे हैं।

इससे पहले प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ भी झड़प हुई थी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े थे और लाठीचार्ज भी किया था ।प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर संख्या छात्रों की है। जिनकी सुरक्षा बलों के साथ झड़प हुई। विरोध प्रदर्शन को मद्देनजर रखते हुए पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ने कई रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया और राज्य से बनकर चलने वाली कुछ ट्रेनों का समय बदल दिया है।

नागरिकता संशोधन विधेयक के तहत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी - हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story