Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चिन्मयानंद से रंगदारी मामले में पीड़िता के दो चचेरे भाई समेत तीन गिरफ्तार, वीडियो के एवज में मांगे थे पांच 5 करोड़

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) को आज शाहजहांपुर (Shahjahanpur) की लॉ कॉलेज की छात्रा से रेप के आरोप में एसआईटी (SIT) की टीम ने गिरफ्तार कर लिया गया है। साथी ही चिन्मयानंद रंगदारी (Chinmayanand Extortion Case) मामले में पीड़िता के 2 चचेरे भाई समेत 3 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

चिन्मयानंद से रंगदारी मामले में पीड़िता के 2 चचेरे भाई समेत 3 गिरफ्तार, वीडियो के एवज में मांगे थे पांच 5 करोड़
X
Chinmayanand Extortion Case 3 arrested with 2 cousins of rape victim

शाहजहांपुर (Shahjahanpur) के एसएस लॉ कॉलेज (SS Law College) की छात्रा से बलात्कार (Rape) और यौन शोषण (Sexual Exploitation) मामले में आज एसआईटी (SIT) की टीम द्वारा पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) को गिरफ्तार कर लिया गया है।

लेकिन इस केस में नया खुलासा हुआ है। खुलासा हुआ है कि स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) से अश्लील वीडियो वायरल नहीं करने के लिए छात्रा के चचेरे भाईयों ने पांच करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चिन्मयानंद को छात्रा के दो चचेरे भाई और एक अन्य शख्स मिलकर अश्लील वीडियो को वायरल करने की धमकी दे रहे थे। इसके एवज में उन्हें चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपए की मांग की थी।

इस मामले में एसआईटी ने कड़ी कार्रवाई करते हुए पीड़ित छात्रा के दो चचेरे भाइयों और उसके सहयोगी संजय को गिरफ्तार किया है। इन्हें भी गिरफ्तारी के बाद मेडिकल जांच के लिए भेजा। बाद में कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने दिए जांच के आदेश

छात्रा से बलात्कार और रंगदारी का मामला जब सुप्रीम कोर्ट पहुंचा तो कोर्ट ने दोनों ही मामलों में एसआईटी जांच के आदेश दिए थे। एसआईटी की टीम ने चिन्मयानंद फिरौती मांगने के एवज में पीड़त छात्रा के साथी संजय से घंटों पूछताछ की थी। एसआईटी द्वारा वीडियो को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया था।

वीडियो की जांच के बाद लिया गया एक्शन

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह भी बयान जारी किया है। डीजीपी का कहना है कि दोनों ही मामलों में एसआईटी की कार्रवाई में देर नहीं हुई है। वीडियो की जांच के बाद ही एक्शन लिया गया है। चिन्मयानंद को एसआईटी ने उनके आश्रम से गिरफ्तार कर मेडिकल जांच के लिए लेकर जाया गया।

बाद में उनकी कोर्ट में पेशी हुई जहां से न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गौरतलब है कि 10 सितंबर दिन मंगलवार को स्वामी चिन्मयानंद के मालिश कराते हुए 16 वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story