Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चमोली त्रासदी: भाजपा नेती उमा भारती बोलीं- मैं मंत्री रहते गंगा पर पनबिजली परियोजनाओं के खिलाफ थी, अबतक 14 शव बरामद

भाजपा ने हिन्दी में एक के बाद एक किए गए कई ट्वीट किये। उमा भारती ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा कि जोशीमठ से 24 किलोमीटर पैंग गाव ज़िला चमोली उत्तराखंड के ऊपर का ग्लेशियर फिसलने से ऋषि गंगा पर बना हुआ पावर प्रोजेक्ट ज़ोर से टूटा और एक तबाही लेकर आगे बढ़ रहा है।

चमोली त्रासदी: भाजपा नेती उमा भारती बोलीं- मैं मंत्री रहते गंगा पर पनबिजली परियोजनाओं के खिलाफ थी, अबतक 14 शव बरामद
X
भाजपा नेता उमा भारती

उत्‍तराखंड (Uttarakhand) के चमोली में ग्‍लेशियर टूटने से तबाही मची हुई है। एसडीआरएफ ने पूरी रात चमोली में तपोवन बांध के पास सुरंग में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। बचाव अभियान में अब तक 14 शव बरामद किए गए हैं। अभी भी 150 से ज्यादा लोगों के लापता होने की बात सामने आ रहा है।

चमोली पुलिस ने बताया कि टनल में फंसे लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य जारी। जेसीबी की मदद से टनल के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है। अब तक कुल 15 व्यक्तियों को रेस्क्यू किया गया है एवं 14 शव अलग-अलग स्थानों से बरामद किये गये हैं।

इस घटना पर भारतीय जनता पार्टी की नेता उमा भारती ने कहा कि ग्लेशियर टूटने की वजह से हुई त्रासदी चिंता का विषय होने के साथ-साथ चेतावनी भी है। उन्होंने कहा वह मंत्री रहते हुए गंगा और उसकी मुख्य सहायक नदियों पर बांध बनाकर पनबिजली परियोजनाएं लगाने के खिलाफ थीं।

भाजपा ने हिन्दी में एक के बाद एक किए गए कई ट्वीट किये। उमा भारती ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा कि जोशीमठ से 24 किलोमीटर पैंग गाव ज़िला चमोली उत्तराखंड के ऊपर का ग्लेशियर फिसलने से ऋषि गंगा पर बना हुआ पावर प्रोजेक्ट ज़ोर से टूटा और एक तबाही लेकर आगे बढ़ रहा है । मै गंगा मैया से प्रार्थना करती हूं की मां सबकी रक्षा करे तथा प्राणिमात्र की रक्षा करे।

इस सम्बन्ध में मैंने जब मै मंत्री थी तब अपने मंत्रालय के तरफ़ से हिमालय उत्तराखंड के बांधो के बारे में जो ऐफ़िडेविट दिया था उसमें यही आग्रह किया था की हिमालय एक बहुत संवेदनशील स्थान है इसलिये गंगा एवं उसकी मुख्य सहायक नदियों पर पावर प्रोजेक्ट नही बनने चाहिएं।

तथा इससे उत्तराखंड की जो 12 प्रतिशत की क्षति होती है वह नैशनल ग्रीड से पूरी कर देनी चाहिए। ज़िला चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी सभी जिलो में रहने वाले अपने आत्मीय जनो से अपील करती हूं की इस आपदा से प्रभावित लोगों के रक्षा व सेवा कार्यों में लग जाइये।

Next Story