Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Chamoli Glacier Burst Live: चमोली में NTPC का पॉवर प्रोजेक्ट बह गया, अब तक 18 लोगों की मौत और 202 लापता

उत्‍तराखंड के चमोली जिले में टनल में फंसे लोगों के बचाने का कार्य अभी भी जारी है। राष्‍ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्‍य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के साथ भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) राहत और बचाव कार्य में लगे हुए हैं।

Chamoli Glacier Burst Live: चमोली में NTPC का पॉवर प्रोजेक्ट बह गया,  अब तक 18 लोगों की मौत और 202 लापता
X

चमोली त्रासदी

Chamoli Glacier Burst: उत्‍तराखंड के चमोली जिले में टनल में फंसे लोगों के बचाने का कार्य अभी भी जारी है। राष्‍ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्‍य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के साथ भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) राहत और बचाव कार्य में लगे हुए हैं। टनल में फंसे लोगों के लिए राहत एवं बचाव कार्य जारी। जेसीबी की मदद से टनल के अंदर पहुंच कर रास्ता खोलने का प्रयास किया जा रहा है। अब तक कुल 18 लोगों के शव बरामद किये गए हैं।

Live Updates..

लखीमपुर खीरी के 30 लोग लापता

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि जो कार्यकर्ता लापता हैं, वे शायद पूर्वी यूपी और बिहार के हैं। मुझे इस संबंध में संपर्क किया गया है कि इनमें से 30 लोग (लापता) लखीमपुर खीरी (उत्तर प्रदेश) के हैं।

डैम को भारी नुकसान हुआ

एडीजी मनोज रावत ने कहा कि ग्लेशियर टूटने से हुए नुकसान को हम अब कम करने का प्रयास कर रहे हैं। बहुत सारे लोग इसमें लापता हुए हैं। एनटीपीसी डैम में काम कर रहे लोग लापता हुए हैं और डैम को भारी नुकसान हुआ है। चमोली ज़िले के तपोवन में टनल में राहत और बचाव कार्य अभी चल रहा है। आईटीबीपी के जवान बचाव कार्य में स्निफर डॉग की मदद ले रहे हैं।

अबतक 18 शव बरामद किये गए

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि अब तक हमने 18 शव बरामद किए हैं और लापता लोगों की संख्या 202 है। हमने टनल में 80 मीटर तक मलबा हटा दिया है, आगे हमारी मशीनें लगी हुई हैं और हमें शाम तक कुछ सफलता मिलने की उम्मीद है।

सुरंग में 1 किलोमीटर से ज्यादा तक की मिट्टी को हटा दिया गया

एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने कहा कि अभी हमारा पूरा ध्यान 2.5 किलोमीटर लंबी सुरंग के अंदर फंसे हुए लोगों को बचाने पर है। सभी टीमें उसी काम में लगी हुई हैं। सुरंग में 1 किलोमीटर से ज्यादा तक की मिट्टी को हटा दिया गया है। जल्द ही हम उस स्थान तक पहुंच जाएंगे जहां पर लोग जीवित हैं।

टनल को 70-80 मीटर खोला गया

चमोली ज़िले के जोशीमठ में टनल में फंसे लोगों को ​बाहर निकालने के लिए राहत और बचाव कार्य चल रहा है। देहरादून में आईटीबीपी सेक्टर हेडक्वार्टर से डीआईजी अपर्णा कुमार ने कहा कि बड़ी टनल को 70-80 मीटर खोला गया है, जेसीबी से मलबा निकाल रहे हैं। यहां कल से 30-40 कर्मी फंसे हुए हैं। आईटीबीपी, उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ और सेना यहां संयुक्त ऑपरेशन कर रही है। क़रीब 153 लोग लापता हैं।

टनल को खोलने की कोशिश की जा रही

उत्तराखंड डीजीपी अशोक कुमार ने कहा है किग्लेशियर टूटने से रैणी पावर प्रोजेक्ट पूरा बह गया और तपोवन भी क्षतिग्रस्त हुआ। पहले प्रोजेक्ट से 32 लोग लापता हैं और दूसरे प्रोजेक्ट से 121 लोग लापता हैं। इनमें से 10 शव बरामद हो गए हैं। तपोवन प्रोजेक्ट में दो टनल थीं, छोटी टनल से कल 12 लोगों को बचाया गया।

बड़ी टनल को खोलने की कोशिश की जा रही है। टनल का मलबा बाहर निकाला जा रहा है, इस काम में सेना की टीम लगी हुई है। मुझे उम्मीद है कि टनल शाम तक खुल जाएगी। चमोली पुलिस ने कहा है कि कोटेश्वर रुद्रप्रयाग में एक शव बरामद हुआ है। इसके के साथ जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 16 हो गई है।

हवाई बचाव और राहत मिशन फिर से शुरू

भारतीय वायु सेना ने कहा कि देहरादून से जोशीमठ के लिए एमआई -17 और ALH हेलीकॉप्टरों उड़ान भर ली है और हवाई बचाव और राहत मिशन फिर से शुरू हो गया है।

170 लोग अभी भी लापता

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आईटीबीपी के प्रवक्ता विवेक पांडे ने कहा कि हमने दूसरी सुरंग में खोज अभियान तेज कर दिया है। हमें जानकारी है कि लगभग 30 लोग वहां फंसे हुए हैं। सुरंग को साफ करने के लिए लगभग 300 आईटीबीपी के जवान तैनात हैं। स्थानीय प्रशासन का कहना है कि लगभग 170 लोग लापता हैं।

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिया था ये बयान

जानकारी के लिए बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के चमोली में एक ग्लेशियर टूटने के बादजान गंवाने वालों के परिजनों के लिए पीएमएनआरएफ से हर एक को 2 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान कर दिया है। इसके अलावा राज्य सरकार ने भी घोषणा की है। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि चमोली में 125 से अधिक लापता लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। अफवाहों पर ध्यान न दें। ग्लेशियर फटने से अब तक 7 शव बरामद किए गए हैं।

Next Story