Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारतीय वायुसेना ने जारी की सीडीएस बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर हादसे की रिपोर्ट, इस वजह से हुआ था क्रैश

बीते महीने सेना के सबसे पहले सीडीएस बिपिन रावत ( CDS Gen Bipin Rawat) के हेलीकॉप्टर क्रैश मामले की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट वायुसेना के द्वारा जारी कर दी गई।

भारतीय वायुसेना ने जारी की सीडीएस बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर हादसे की रिपोर्ट, इस वजह से हुआ था क्रैश
X

सीडीएस बिपिन रावत (फाइल फोटो) 

बीते महीने सेना के सबसे पहले सीडीएस बिपिन रावत ( CDS Gen Bipin Rawat) के हेलीकॉप्टर क्रैश मामले की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट वायुसेना के द्वारा जारी कर दी गई। वायुसेना ने अपनी रिपोर्ट में बड़ी जानकारी देते हुए बताया है कि जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर खराब मौसम की वजह से हादसे का शिकार हुआ। खराब मौसम की वजह से पायलट अपना कंट्रोल भूल गया। जिसकी वजह से यह बड़ा हादसा हुआ।

वायुसेना ने अपनी इस प्रारंभिक रिपोर्ट में बताया कि अचानक तमिलनाडु में खराब हुए मौसम की वजह से जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर घने बादलों में एंट्री कर गया था। जिसकी वजह से पायलट का स्पेटियल डिसओरिएनटेशन हुआ और उसकी वजह से वह विमान से कंट्रोल खो बैठा। जिसकी वजह से हेलीकॉप्टर सीधा जमीन पर टकरा गया।

जानकारी के लिए बता दें कि वायुसेना की जांच कमेटी ने क्रश मामले की रिपोर्ट देते हुए बताया कि हेलीकॉप्टर तकनीकी खराबी या किसी मानवीय भूल की वजह से या फिर किसी अन्य साजिश की वजह से दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुआ। यह खराब मौसम की वजह से हुआ। सीडीएस बिपिन रावत समेत उनकी पत्नी और अन्य अधिकारी इस हेलीकॉप्टर में मौजूद थे। जिनकी मौत हादसे के दौरान हो गई थी। सिर्फ ग्रुप कैप्टन जिसमें बच गए थे, लेकिन उनका भी 10 दिन बाद निधन हो गया।

सुलूर एयर बेस से वायुसेना के मी-17वी5 हेलिकॉप्टर से ऊटी के करीब वेलिंगटन में 8 दिसंबर 2021 को सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत कुल 14 लोग इस हेलीकॉप्टर में मौजूद थे। जिनकी मौत हो चुकी है। इस जांच रिपोर्ट के दौरान भारतीय वायु सेना ने सभी आईविटनेस के भी बयान दर्ज किए और स्थानीय लोगों से भी हेलीकॉप्टर को लेकर जानकारी ली गई। जिसके आधार पर अपनी यह प्राथमिकता रिपोर्ट जारी की गई।

Next Story