Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी पीछे हटने को नहीं तैयार, 29 Jan को बुलाया भारत बंद, SC में 144 याचिकाओं पर होगी सुनवाई

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 29 जनवरी दिन बुधवार को भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि शाहीन बाग से दुनिया की कोई भी ताकत उन्हें नहीं हटा सकती है।

आखिर क्यूं बेनिया बाग बना प्रदर्शनकारियों का धरना स्थल, एक दर्जन महिलाओं पर केस दर्जसीएए के खिलाफ बेनिया बाग में विरोध प्रदर्शन

देश की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। एक महीने से अधिक समय से प्रदर्शनकारी सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने 29 जनवरी दिन बुधवार को भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि शाहीन बाग से दुनिया की कोई भी ताकत उन्हें नहीं हटा सकती है। प्रदर्शनकारियों का यह भी कहना है कि 29 जनवरी को सड़कें जाम की जाएंगी। सरकार अपने प्रतिनिधि भेजेगी, उसके बाद भी सीएए के खिलाफ विरोध इसी तरह से जारी रहेगा।

सीएए से जड़ी 144 याचिकाओं पर होगी सुनवाई

हालांकि इस बीच दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने शाहीन बाग के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। इस दौरान उपराज्यपाल ने प्रदर्शनकारियों से प्रदर्शन को समाप्त करने की अपील की। वहीं प्रतिनिधिमंडल ने उपराज्यपाल को एक ज्ञापन देकर नागरिकता कानून को वापस लेने की मांग की है। बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) से जुड़ी 144 याचिकाओं पर सुनवाई होगी।

सीएए किसी भी कीमत पर वापस नहीं लिया जाएगा

बता दें मोदी सरकार नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) कानून को वापस लेने को तैयार नहीं हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सीएए के समर्थन में एक रैली को संवोधित किया। इस दौरान अमित शाह ने साफ शब्दों में कहा है कि जिसे सीएए का विरोध करना है करे लेकिन सीएए किसी भी कीमत पर वापस नहीं लिया जाएगा। अमित शाह का कहना है कि सीएए नागरिकता देने का कानून है न की नागरिकता छिनने का।

Next Story
Top