Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जो हमारे दुश्मन नहीं कर सके, वह आज पीएम मोदी कर रहे हैं: राहुल गांधी

महात्मा गांधी ने अहिंसक कार्रवाई को ही सत्याग्रह का रास्ता बताया है। यह मोटे तौर पर सत्य और बल को ही सत्याग्रह कहा गया है। इसे आमतौर पर अहिंसा कहा जाता है। लेकिन गांधी के लिए अहिंसा एक अलग व्यापक अवधारणा का शब्द था, जिसका नाम प्रेम और करुणा पर आधारित रास्ता था।

जो हमारे दुश्मन नहीं कर सके, वह आज पीएम मोदी कर रहे हैं: राहुल गांधी
X
कांग्रेस नेता राहुल गांधी

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली के राजघाट पर कांग्रेस पार्टी का सत्याग्रह आंदोलन शुरू होकर रात 8 बजे तक चला। मोदी सरकार के नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ ये धरना किया गया। इस धरन में प्रियंका गांधी के अलावा अशोक गहलोत, राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद सहित कई नेता मौजूद रहे।

कांग्रेस सत्याग्रह लाइव अपडेट (Congress satyagraha live update)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने राजघाट में पीएम मोदी पर निशाना साधाते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी जी, जब आप छात्रों को गोलियों से उड़ाते हैं और जब आप उन पर लाठीचार्ज करते हैं, या जब आप पत्रकारों को धमकी देते हैं, तो आप देश की आवाज को दबाने की कोशिश करते हैं। राहुल गांधी ने आगे कहा कि देश के दुश्मनों ने देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने के लिए पूरे प्रयास किए, लेकिन हमारे दुश्मन जो नहीं कर सके, वह आज पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं।

कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी राज घाट पर पहुंची जहां कांग्रेस पार्टी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही है। यहां पर सोनिया गांधी ने संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा है। सोनिया गांधी के अलावा राहुल गांधी और मनमोहन सिंह ने भी राजघाट पर संविधान की प्रस्तावना को पढ़ा है।

राजघाट पर कांग्रेस पार्टी का धरना शुरू हो चुका है।

सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी का राजघाट पर 'सत्याग्रह' शुरु हो चुका है। जिसमें संविधान के संरक्षण की मांग की जा रही है। मौन प्रदर्शन दोपहर 3 बजे से शुरू हो चुका है जो रात 8 बजे तक जारी रहेगा। कांग्रेस के प्रमुख नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा सहित प्रदर्शन में भाग ले रहे हैं। सत्याग्रह पर बैठने के लिे 21 दिसंबर को सोनिया गांधी के आवास पर बैठक की गई थी। कांग्रेस के महासचिव के सी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी का सत्याग्रह इस तानाशाही सरकार के खिलाफ और बाबा साहेब के पवित्र संविधान की रक्षा के लिए लड़ेगा।

क्या है सत्याग्रह

महात्मा गांधी ने अहिंसक कार्रवाई को ही सत्याग्रह का रास्ता बताया है। यह मोटे तौर पर सत्य और बल को ही सत्याग्रह कहा गया है। इसे आमतौर पर अहिंसा कहा जाता है। लेकिन गांधी के लिए अहिंसा एक अलग व्यापक अवधारणा का शब्द था, जिसका नाम प्रेम और करुणा पर आधारित रास्ता था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story