Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2022: वित्त मंत्री बोलीं- कैपिटल एक्सपेंडिचर में 35.4 प्रतिशत की तेज वृद्धि, हरित बॉन्ड जारी किए जाएंगे

सीतारमण ने कहा कि इस तरह पूंजी व्यय बढ़कर वर्ष 2019-20 के व्यय के 2.2 गुना से अधिक हो गया है और यह 2022-23 में जीडीपी का 2.9 प्रतिशत हो जाएगा।

Budget 2022: वित्त मंत्री बोलीं- कैपिटल एक्सपेंडिचर में 35.4 प्रतिशत की तेज वृद्धि, हरित बॉन्ड जारी किए जाएंगे
X

Budget 2022: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने आज संसद में अपने बजट भाषण के दौरान कहा कि केंद्रीय बजट (Union Budge) में पूंजी व्यय (capital expenditures) के परिव्यय में 35.4 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जा रही है। जिससे वर्ष 2022-23 में यह 7.50 लाख करोड़ रुपए हो गया है। मौजूदा वर्ष में यह 5.54 प्रतिशत करोड़ रुपए है।

सीतारमण ने कहा कि इस तरह पूंजी व्यय बढ़कर वर्ष 2019-20 के व्यय के 2.2 गुना से अधिक हो गया है और यह 2022-23 में जीडीपी का 2.9 प्रतिशत हो जाएगा। निवेश में गुणात्मक चक्र के लिए सार्वजनिक निवेश बढ़ाने की जरूरत है। ताकि निजी निवेश में तेजी लाई जा सके। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि निजी निवेश को उसकी पूरी क्षमता तक आगे बढ़ाने और अर्थव्यवस्था की जरूरतों के लिए सार्वजनिक निवेश को जारी रखा जाना चाहिए और इससे निजी निवेश भी बढ़ेगा।

जीडीपी का 4.1 प्रतिशत होगा

केंद्रीय मंत्री सीतारमण ने कहा कि राज्यों को अनुदान सहायता के जरिए पूंजीगत संपत्ति के निर्माण के लिए बनाए गए प्रावधान के साथ पूंजी व्यय के साथ केंद्र सरकार के प्रभावी पूंजी व्यय के 2022-23 में 10.68 लाख करोड़ रुपए होने का अनुमान है। जोकि जीडीपी का 4.1 प्रतिशत होगा।

हरित बॉन्ड जारी किए जाएंगे

सीतारमण ने बताया कि 2022-23 में सरकार के बाजार से उधार लेने के एक हिस्से के रूप में हरित अवसंरचना के लिए संसाधन जुटाने हेतु सॉवरेन हरित बॉन्ड जारी किए जाएंगे। यह प्रक्रिया सार्वजनिक क्षेत्र की परियोजनाओं में लागू की जाएगी। जिससे अर्थव्यवस्था की कार्बन तीव्रता को घटाने में मदद मिलेगी।

वित्तमंत्री ने अर्थव्यवस्था में तेज और निरंतर विकास को सुनिश्चित करने में पूंजी निवेश और रोजगार के अवसरों के सृजन, बड़े उद्योगों एवं एमएसएमई के विनिर्मित इनपुट के लिए मांग बढ़ाने, पेशेवरों की सेवाएं और बेहतर कृषि अवसंरचना के जरिए किसानों की मदद के एकीकरण की भूमिका पर प्रकाश डाला है।

और पढ़ें
Next Story